परिवारिक चुदाई की नई किताब

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

छात्रों को नहीं मिल रहीं नई किताबें

१९ फ़रवरी २०१८ ०१:३९:५० Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news

शिमला —हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के पुस्तकालय में छात्रों को नई किताबें मुहैया करवाने के लिए अभी तक विवि प्रशासन आधी ही किताबों की खरीद की प्रक्रिया पूरी कर पाया है। विवि के छात्रों को पुस्तकालय में नई किताबें नहीं मिल पा रही हैं। छात्र बार-बार यही मांग विवि प्रशासन के समक्ष रख रहे हैं कि The post छात्रों को नहीं मिल रहीं नई किताबें appeared first on Divya Himachal: No. 1 in Himachal news - News - Hindi news - Himachal news - latest Himachal news .

Vice null Time१९ फ़रवरी २०१८ ०१:३९:५०


Ads

चीन में लाखों अधिकारियों को राष्ट्रपति शी की नई किताब पढ़ने का दिशानिर्देश

२३ नवंबर २०१७ २२:२३:२२ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

चीन में शी जिनपिंग के दोबारा राष्ट्रपति चुने जाने के बाद लाखों अधिकारियों को प्रशासन की ओर से उनकी नई किताब पढ़ने का दिशानिर्देश दिया गया है।

Vice null Time२३ नवंबर २०१७ २२:२३:२२


युवाओं के लिए लिखेंगे किताब

०३ जुलाई २०१७ २१:४२:२१ Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news

नई दिल्ली — अपनी तरह का पहला प्रयास करते हुए वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के युवाओं को समर्पित एक किताब लिखेंगे। इस किताब में मोदी एग्जाम स्ट्रेस, एग्जाम के बाद क्या करें और चरित्र निर्माण जैसे मुद्दों पर अपनी बात रखेंगे।

Vice null Time०३ जुलाई २०१७ २१:४२:२१


किताबों में बदलाव होता है

१० जून २०१७ ०१:३२:३६ bhaskar

किताबों में बदलाव होता है यह आधुनिक युग है। रोजाना कुछ न कुछ नया होता है। इसी प्रकार कॉम्पीटिशन में रहना है, तो किताबों में अपडेट रहना होगा। यहां नई किताबें नहीं आईं, जिससे दिक्कत तो होती है। मजबूरी में पुरानी किताबें पढ़नी पढ़ रही है। अपडेट बुक्स नहीं होने से कंपटीशन के एक्जाम देने में दिक्कत आएगी। अजय कुमार पांडे, छात्र अधिकतर स्थानों पर नहीं हैं लाइब्रेरियन डीबी स्टार ने इस मामले की पड़ताल की, तो खुलासा हुआ कि 56 लाइब्रेरी में से सिर्फ 15 में लाइब्रेरियन के पद हैं। अन्य सभी लाइब्रेरी प्रभारियों के भरोसे हैं। इन प्रभारियों को किताबों की कमियों और उनके अपडेट वर्जन के बारे में कोई जानकारी नहीं है, इसलिए उन्होंने किसी प्रकार का प्रस्ताव नहीं भेजा है। कई छात्र यहां से बने हैं अफसर ग्वालियर की सेंट्रल लाइब्रेरी में छात्रों के लिए एक अलग से स्टडी रूम बना है। यह रूम सुबह नौ बजे से शाम सात बजे तक सातों दिन खुलता है। यहां छात्रों को किताबें यहीं पर पढ़ने के लिए दी जाती हैं। यहीं से पढ़कर कई छात्र बैंक व एमपीपीएससी का कॉम्पीटिशन फेस कर अफसर बने हैं। आज...

Vice null Time१० जून २०१७ ०१:३२:३६


युवा लेखकों की नई हिंदी में लिखीं किताबें बनीं पसंद

२२ अप्रैल २०१७ २२:५७:३० bhaskar

नई हिंदी की हर किताब पर है प्री-रिजर्वेशन स्वामी विवेकानंद लाइब्रेरी के मैनेजर लक्ष्मी शरण मिश्रा ने बताया, नई हिंदी को लेकर युवाओं में काफी रुचि है, इस बात का अंदाजा किताबों की प्री-बुकिंग्स को देखकर लगता है। हमने जब लाइब्रेरी में हिंदी सेक्शन शामिल किया, तो पहले हिंदी की क्लासिकल किताबें रखीं। बाद में करीब 100 नई हिंदी की किताबों को शामिल किया। ताज्जुब होता है, लेकिन नई हिंदी सेगमेंट की हर किताब पर हमें 28 प्री-रिजर्वेशन मिले। क्या है नई हिंदी नई हिंदी का सीधा अर्थ ऐसी हिंदी है, जो साहित्यिक नहीं बल्कि सामान्य है। आम बाेलचाल में इस्तेमाल होने वाली ऐसी हिंदी, जिसने अंग्रेजी के तकनीकी शब्दों को भी खुद में शामिल कर लिया है। वे युवा जो हिंदी भाषी क्षेत्रों से हैं, लेकिन उनकी प्रोफेशनल लैंग्वेज इंग्लिश है, अमूमन वे ही इस नई हिंदी को पढ़ना पसंद करते हैं। सिटी रिपोर्टर

Vice null Time२२ अप्रैल २०१७ २२:५७:३०


ज्यादातर लोग परिवारिक मेंबर से प्रभावित होकर वोट करते हैं

१३ जनवरी २०१७ २३:१४:५४ bhaskar

जालंधर |मैंने लोकसभा चुनाव में पहली बार वोट डाला था। नई ईवीएम टेक्नोलाजी आई थी। सबको ये क्रेज था कि मशीन को पंच करके देखेंगे। मेरे मन में पहला स्वाल था कि वोट किसे दें। एक तरफ लोकल मुद्दे थे तो दूसरी तरफ नेशनल लेवल पर विकास की बात। ज्यादातर लोग परिवार में मेंबरों से प्रभावित होते हैं या फिर नेताओं से दोस्ती पर। मेरा मानना है कि वोटर को सख्त फैसला लेना चाहिए। -रमनकुमार, दिलकुशा मार्केट के कारोबारी।

Vice null Time१३ जनवरी २०१७ २३:१४:५४


नई किताबें नहीं, पाठक अखबार पढ़कर लौट रहे

३० अक्‍तूबर २०१६ ००:४२:२२ bhaskar

नगर निगम के सबसे पुराने बाबू छोटेलाल श्रीवास्तव पुस्तकालय में पाठकों की संख्या घटती जा रही है। ज्ञानवर्धक किताबों के अलावा नई-नई मैगजीन भी आनी बंद हो गई हैं। एक वर्ष से नई मैगजीन यहां नहीं पहुंची है। प्रतियोगी परीक्षा संबंधी किताबों की भी कमी बनी हुई है। पिछले कई वर्षों से निगम ने पुस्तकालय के लिए नई किताबों की खरीदी भी नहीं की है। अनदेखी के चलते यहां पहुंचने वाले पाठकों में भी नाराजगी है। अखबार पढ़कर ही लोगों को लौटना पड़ रहा है। यह पुस्तकालय निगम से 30 मीटर दूरी पर ही स्थित है। इसके बावजूद आयुक्त, महापौर किताबों की समस्या को दूर नहीं कर पा रहे हैं। लाइब्रेरियन से पाठक रोज शिकायत कर रहे, लेकिन व्यवस्था के नाम पर सिर्फ आश्वासन मिल रहा है। निगम पुस्तकायल पर 27 हजार बकाया : सूत्रों के मुताबिक निगम के पुस्तकालय पर 27 हजार रुपए का बकाया है, जिसके कारण यहां नई किताबों की सप्लाई नहीं हो पा रही है। पुस्तकालय की स्थापना 1999 में हुई थी। शुरू में यहां पाठकों की लाइन लगी रहती थी, अब गिनती के 8-10 पाठक ही पहुंच रहे हैं। 100 से अधिक पाठक आजीवंत सदस्य हैं। किताबों की कमी के...

Vice null Time३० अक्‍तूबर २०१६ ००:४२:२२


ट्विंकल खन्ना ने किया नई किताब का ऐलान, ये है टाइटल

१३ अक्‍तूबर २०१६ ०४:२३:०९ Live Hindustan Rss feed

एक्ट्रेस से इंटीरियर डिजाइनर, लेखिका और स्तंभकार बनीं ट्विंकल खन्ना ने बुधवार को अपनी नई किताब 'द लीजेंड ऑफ लक्ष्मी प्रसाद' की घोषणा की।

Vice सभी समाचार Time१३ अक्‍तूबर २०१६ ०४:२३:०९


बेकार पड़े हैं कंप्यूटर नई किताबें जमीन पर

१५ जून २०१६ २२:५१:२० bhaskar

पटनामेडिकल कॉलेज की पुरानी कैंटीन को बंद कर उसमें नई लाइब्रेरी खोलने की तैयारी लगभग एक साल से चल रही है। कॉलेज प्रबंधन ने कहा था कि एमसीआई ने लाइब्रेरी का विस्तार करने को कहा है, इसलिए कैंटीन बंद कर उसमें छात्रों को पढ़ने के आधुनिक सुविधाओं से लैस लाइब्रेरी बनाने जा रहे हैं। लेकिन आलम यह कि एक साल से नई लाइब्रेरी में छात्रों को बैठने के लिए भी जगह तक नहीं मिल रही है। छात्र जगह खाली होने का इंतजार करते हैं या फिर दूसरे की किताब और बैग को हटाकर अपने लिए बैठने की जगह बनाते हैं। जगह कम और छात्र ज्यादा रहने के कारण शोरगुल भी होता रहता है। ऐसे में पढ़ने में काफी असुविधा होती है। एमबीबीएस की सीट 100 से बढ़कर 150 होने से बैठने के लिए जगह नहीं मिल रही है। पुरानी लाइब्रेरी में बैठने के लिए एक अदद अच्छी कुर्सी तक नहीं है। ज्यादातर कुर्सी टूटी पड़ी है। लाइब्रेरी को ई-लाइब्रेरी बनाने की भी बात प्रशासन ने की थी। लाइब्रेरी में दस कंप्यूटर रखे हुए हैं, पर सभी को बंद रखा गया है। नई लाइब्रेरी में क़ीमती किताबों को जमीन पर रख कर छोड़ दिया गया है। समस्याओं को दूर िकया जाएगा ...

Vice null Time१५ जून २०१६ २२:५१:२०


राजस्‍थान बोर्ड ने इतिहास की किताबों से नेहरू को हटाया, वेबसाइट पर डाली नई किताबें

०८ मई २०१६ ११:०४:५८ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री कौन थे? इस सवाल का जवाब अब आपको राजस्‍थान की कक्षा आठ की इतिहास की किताब में नहीं मिलेगा।

Vice null Time०८ मई २०१६ ११:०४:५८