मऊसहानियां महाराजा छत्रसाल मूर्ति वर्क

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

महाराजा छत्रसाल के जीवन पर आधारित पुस्तक का विमोचन

०५ फ़रवरी २०१७ २२:०१:१५ bhaskar

महाराजा छत्रसाल की नगरी में रविवार को सिंचाई कॉलोनी के सरस्वती स्कूल में छत्रसाल महाराज पर लिखी गई पुस्तक परमवीर छत्रसाल का विमोचन किया गया। इस पुस्तक में उनके द्वारा किए गए युद्ध के बारे में और सौर्य गाथाओं का वर्णन किया गया है। इस पुस्तक के विमोचन के दौरान महाराजा छत्रसाल यूनिवर्सिटी के कुलपति मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथियों सहित पुस्तक के लेखक मौजूद रहे। मुख्य अतिथि महाराज छत्रसाल बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. प्रियव्रत शुक्ल ने कहा कि बुंदेलखंड में महाराज छत्रसाल को बुंदेल केसरी की उपाधि दी जाती है। यहां के लोगों का मानना है कि महाराज छत्रसाल सिर्फ बुंदेलखंड के नायक नहीं थे, बल्कि संपूर्ण राष्ट्र को प्ररणा देने वाले राष्ट्र पुरुष रहे हैं। उनकी शासन व्यवस्था, साहित्य चिंतन, शौर्य और पराक्रम राजा के संपूर्ण व्यक्तित्व का अनुपम उदाहरण है। परमवीर छत्रसाल पुस्तक के माध्यम से देश भर के छात्र अपने इतिहास के इस नायक को पहचानेंगे और उनसे प्रेरणा लेेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षताविद्या भारती के प्रांत संगठन मंत्री डॉ. पवन तिवारी ने कहा...

Vice null Time०५ फ़रवरी २०१७ २२:०१:१५


Ads

महाराज छत्रसाल के जीवन पर आधारित पुस्तक का विमोचन

०५ फ़रवरी २०१७ २२:०१:१४ bhaskar

महाराज छत्रसाल के जीवन पर आधारित पुस्तक का विमोचन भास्कर संवाददाता | छतरपुर महाराजा छत्रसाल की नगरी में रविवार को सिंचाई कॉलोनी के सरस्वती स्कूल में छत्रसाल महाराज पर लिखी गई पुस्तक परमवीर छत्रसाल का विमोचन किया गया। इस पुस्तक में उनके द्वारा किए गए युद्ध के बारे में और सौर्य गाथाओं का वर्णन किया गया है। इस पुस्तक के विमोचन के दौरान महाराजा छत्रसाल यूनिवर्सिटी के कुलपति मुख्य अतिथि और विशिष्ट अतिथियों सहित पुस्तक के लेखक मौजूद रहे। मुख्य अतिथि महाराज छत्रसाल बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. प्रियव्रत शुक्ल ने कहा कि बुंदेलखंड में महाराज छत्रसाल को बुंदेल केसरी की उपाधि दी जाती है। यहां के लोगों का मानना है कि महाराज छत्रसाल सिर्फ बुंदेलखंड के नायक नहीं थे, बल्कि संपूर्ण राष्ट्र को प्ररणा देने वाले राष्ट्र पुरुष रहे हैं। उनकी शासन व्यवस्था, साहित्य चिंतन, शौर्य और पराक्रम राजा के संपूर्ण व्यक्तित्व का अनुपम उदाहरण है। परमवीर छत्रसाल पुस्तक के माध्यम से देश भर के छात्र अपने इतिहास के इस नायक को पहचानेंगे और उनसे प्रेरणा लेेंगे।

Vice null Time०५ फ़रवरी २०१७ २२:०१:१४


ग्राम मऊसहानियां से शुरू हुई सामाजिक समरसता यात्रा

१९ जनवरी २०१७ २१:५४:२२ bhaskar

सामाजिक समरसता मंच द्वारा गुरुवार को ग्राम मऊसहानियां से सुबह साढे 10 बजे बुंदेलखंड केसरी महाराजा छत्रसाल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पिंत करने और पूजन के बाद समरसता यात्रा शुरू की गई। इससे पहले मऊसहानियां में एक कार्यक्रम हुआ, जिसमें गांव-गांव से आए लोगों को समाज की मुख्यधारा में जोड़ने का प्रयास किया गया, जिससे गांव में हर कोई सामाजिक समरसता मंच के साथ हर तबके के लोगों के साथ चल सके। कार्यक्रम मे मुख्य वक्ता के रूप मे भालचंद्र नातू ने जाति भेद ख़त्म करके समाज के सभी लोगों को एक होने का आग्रह किया। यात्रा ग्राम सहानिया से प्रारंभ होकर मऊसहानियां, धुबेला से नयागांव, नौगांव ,दौरिया, पुतरया ,बड़ेगाव, जोरन ,महेड ,इमलिया, चिरवारी, कैमाहा, हरपालपुर होते हुए अलीपुरा पहुंची। आलीपुरा में यात्रा का रात्रि विश्राम होगा। कार्यक्रम में तरुण बाजपेई , नंदकिशोर दहायत विशेष रुप से रहे। यात्रा के संयोजक रविशंकर द्विवेदी टिंकू ने कहा कि सामाजिक समरसता मंच के माध्यम से लोग अपने विचार और अपनी समस्या रख सकते हैं। मिल-जुलकर सभी लोग इसका हल निकालेंगे। सहसंयोजक...

Vice null Time१९ जनवरी २०१७ २१:५४:२२


महाराजा छत्रसाल प्रतिमा स्थापना की मांग उठी

१६ दिसंबर २०१६ ००:००:५९ bhaskar

भोपाल| टीन शेड तिराहा पर महाराजा छत्रसाल की प्रतिमा स्थापित की जाए। बुंदेलखंड साहित्य व संस्कृति परिषद के महामंत्री रूपराज शर्मा का कहना है कि महापौर आलोक शर्मा व राजस्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता प्रतिमा लगाने का आश्वासन दे चुके हैं। शिलान्यास का पत्थर भी लगाया गया था, बावजूद इसके कई साल बाद भी प्रतिमा की स्थापना नहीं की गई। उन्होंने बताया कि शुक्रवार सुबह 10 बजे टीन शेड तिराहा पर महाराजा छत्रसाल स्मरण सभा होगी, जिसमें उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए जाएंगे।

Vice null Time१६ दिसंबर २०१६ ००:००:५९


पदयात्रा आज महाराज छत्रसाल की जन्मभूमि पर पहुंचेगी

२५ अक्‍तूबर २०१६ २२:४०:०४ bhaskar

छतरपुर| महाराज छत्रसाल की कीर्ति और गाथाओं को जन-जन तक पहुंचाने साथ ही साहित्य समाज को महाराज छत्रसाल की स्मृतियों के प्रति साहित्य सृजन के लिए प्रेरित करने जिले के मऊसहानियां से महाराज छत्रसाल गौरव जागरण यात्रा मंगलवार को महाराज छत्रसाल के जन्म की स्थली टीकमगढ़ के मोर पहाड़ी पर पहुंचेगी। शाम 7 बजे जन्म भूमि पर सामाजिक समरसता और लोक गान समारोह का आयोजन किया जा रहा है। इसमें बुंदेलखंड के लोक गायक देशराज पटैरिया अपनी प्रस्तुति देंगे और सागर की उमेश वैद्य अपनी टीम के साथ मौनिया नृत्य प्रस्तुत करेंगी। मंगलवार को यह यात्रा पलेरा से आगे बढ़ते हुए खरगापुरा तिराहा, सगरवारा पहुंची। यहां से इस यात्रा की शुरुआत बुधवार की सुबह दोबारा की जाएगी। इस यात्रा के दौरान सैकड़ों लोगों ने पुष्प वर्षा कर यात्रा का स्वागत किया। इस यात्रा में विद्या भारती महाकौशल प्रांत संगठन के मंत्री पवन तिवारी, पूर्व मंत्री हरिशंकर खटीक, यात्रा प्रभारी विनय चौरसिया, महाराज छत्रसाल शोध संस्थान के अध्यक्ष भगवत अग्रवाल, सचिव राधे शुक्ला, टीकमगढ़ से अंकित तोमर, आशुतोष भट्ट,...

Vice null Time२५ अक्‍तूबर २०१६ २२:४०:०४


छत्रसाल सेना ने मनाई बुंदेल केशरी महाराजा छत्रसाल की जयंती

०८ जून २०१६ ००:३९:३० bhaskar

सागर | छत्रसाल सेना ने मंगलवार को छत्रसाल चौराहे पर महाराजा छत्रसाल की प्रतिमा पर तिलक और माल्यार्पण कर उनकी जयंती मनाई। की पूर्व संध्या पर भूतेश्वर मंदिर प्रांगण में दर्शनार्थियों को सकोरे वितरित किए। प्रांतीय अध्यक्ष श्रीकांत सेन, जिला अध्यक्ष अमित खटीक ने कहा हम सभी लोगों को छत्रसाल के जीवन से स्वाभिमानी बनने की प्रेरणा लेनी चाहिए। जयंती समारोह के तहत 8 जून को परकोटा स्थित दनादन मंदिर में सुंदरकांड और विश्वशांति यज्ञ का आयोजन किया गया है। सेना से जुड़े सदस्यों ने मंगलवार को वृद्धों को भोजन कराया। इस मौके पर प्रमोद रैकवार अंबिकेश तिवारी, भगवान दास सेन, महेंद्र विश्वकर्मा, विशाल ठाकुर, जितेंद्र पटेल, देवेंद्र सेन, अमित अहिरवार, अनिल पांडे गौरव सेन अदि उपस्थित थे।

Vice null Time०८ जून २०१६ ००:३९:३०


प्राणनाथ मंदिर में गद्दी पूजन से शुरू हुआ उत्सव कलाकारों ने सुनाई छत्रसाल की वीरगाथा

०७ जून २०१६ २२:५२:०५ bhaskar

स्वयं सेवकों पर पुष्पवर्षा कर पथ संचलन का किया स्वागत समाधि स्थल पर आयोजक मंडल ने किया पूजन दो दिवसीय महाराजा छत्रसाल महोत्सव का आगाज भास्कर संवाददाता | नौगांव छतरपुर शहर के संस्थापक बुंदेलखंड केशरी केसरी महाराजा छत्रसाल की जयंती उनकी राजधानी मऊसहानियां में राजसी ठाटबाट के साथ मनाई गई। संस्कृति संचालनालय भोपाल और महाराजा छत्रसाल महोत्सव समिति मऊसहानियां की ओर से आयोजित इस दो दिवसीय विरासत महोत्सव कार्यक्रम का मंगलवार को शुभारंभ हुआ। मंगलवार की दोपहर महाराजा छत्रसाल की गद्दी का पूजन, समाधी पर पूजन अर्चन के साथ प्राणनाथ मंदिर में पूजन अर्चन किया गया। इसके बाद गाजे बाजे के साथ राजसी ठाटबाट से एक विशाल चल समारोह निकाला गया। चल समारोह में महाराजा छत्रसाल बग्गी पर सवार होकर निकले। चल समारोह में हजारों की संख्या में लोग शामिल रहे। नौगांव से पांच किमी दूर ग्राम मऊसहानिया में विरासत कार्यक्रम का शुभारंभ मकरबा स्थित महाराज छत्रसाल के गुरू स्वामी प्राणनाथ मंदिर में पूजा अर्चना से हुआ। समिति के अध्यक्ष गोविंद सिंह बुंदेला और समिति के...

Vice null Time०७ जून २०१६ २२:५२:०५


जयंती पर महाराजा छत्रसाल की जन्मस्थली रही सूनी

०७ जून २०१६ २२:५२:०५ bhaskar

राजीव रंजन श्रीवास्तव | टीकमगढ़ टीकमगढ़ जिले के लिघोरा ब्लॉक के ककर कचनाए गांव के पास स्थित विंध्य-वनों की मोर पहाड़ियों में इतिहास-पुरुष महाराजा छत्रसाल का जन्म हुआ था। यह स्थान सालों से अपनी वीराने की गाथा गा रहा है। मंगलवार को उनकी जयंती के अवसर पर कोई भी समाज या शासन-प्रशासन के लोग उन्हें श्रद्धांजलि देने नहीं पहुंचे। 2013 में ग्राम मोरपहाड़ी में सांस्कृतिक विभाग व तत्कालीन मंत्री हरिशंकर खटीक ने मिलकर तीन दिवसीय मोर पारिरया महोत्सव मनाया था। उसी समय बुंदेलखंड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष सुरेंद्र प्रताप सिंह (बेबी राजा) ने इस स्थान पर टीन शेड बनाने के लिए 50 हजार रुपए स्वीकृत किए थे। इस राशि से टीन शेड तो बना पर ज्यादा समय तक स्थिर नहीं रह सका। उसके बाद से किसी ने यहां ध्यान नहीं दिया। Ã पिछले कुछ सालों से इस क्षेत्र में कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं हुआ पर जल्द ही खजुराहो महोत्सव जैसा मोरपारिया महोत्सव को भी मनाए जाने प्रयास किया जाएगा। - हरिशंकर खटीक, पूर्व मंत्री Ã जल्द ही परिषद की बैठक में प्रस्ताव पारित करवाकर चौराहा बनाया जाएगा। - लक्ष्मी गिरी, नपा...

Vice null Time०७ जून २०१६ २२:५२:०५


महाराजा छत्रसाल की प्रतिमा का पूजन

०७ जून २०१६ २२:४१:४७ bhaskar

महाराजा छत्रसाल की प्रतिमा का पूजन छतरपुर|छत्रसाल चौराहे पर मंगलवार की सुबह महाराजा छत्रसाल की प्रतिमा पर पूजन कर तिलक किया गया। साथ ही प्रतिमा पर ध्वज चढ़ाकर पूजन किया गया। छत्रसाल चौराहे पर मंगलवार की सुबह प्रतिमा पूजन किया गया। इस अवसर पर छतरपुर विधायक ललिता यादव, नपा अध्यक्ष अर्चना गुड्डू सिंह, छतरपुर रेंज डीआईजी केसी जैन, एसडीएम डीपी द्विवेदी, नायब तहसीलदार अभिनव शर्मा, श्रीराम सेवा समिति के संयोजक राकेश तिवारी सहित अनेक लोग मौजूद रहे। इसी के बाद सभी अतिथि चौक बाजार स्थित महाराजा छत्रसाल की गद्दी पर पहुंचे और वहां पर गद्दी की पूजा कर छत्रसाल जयंती मनाई। इस अवसर पर महाराजा छत्रसाल महोत्सव के अध्यक्ष गोविंद सिंह बुंदेला सहित के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे।

Vice null Time०७ जून २०१६ २२:४१:४७


छत्रसाल जयंती पर आरएसएस का पथ संचलन

०६ जून २०१६ २२:४७:०५ bhaskar

छतरपुर | शहर की स्थापना करने वाले महाराजा छत्रसाल की जयंती पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के द्वारा मंगलवार को शहर की मुख्य सड़कों पर पथ संचलन किया जाएगा। संघ के जिला मीडिया प्रभारी दिनेश कुमार तिवारी ने बताया कि मंगलवार को महाराजा छत्रसाल की जयंती पर आरएसएस छतरपुर नगर के स्वयं सेवकों के द्वारा नगर की मुख्य सड़कों पर पथ किया जाएगा। पथ संचलन मोटे के महावीर मंदिर से प्रारंभ होकर मुख्य मार्गों से होकर वापस वहीं पर समाप्त हो जाएगी। श्री तिवारी ने बताया कि इसी के साथ छत्रसाल महाराज की जीवनी पर बंदना की जाएगी। संघ के पूर्व विभाग संघचालक राजेंद्र चतुर्वेदी के द्वारा सभी स्वयं सेवकों को संबोधित किया जाएगा।

Vice null Time०६ जून २०१६ २२:४७:०५