आइसीएसई बोर्ड से संबंद्ध स्कूल भी आएंगे एनसीईआरटी के दायरे में

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१६ अप्रैल २०१८ १६:२७:५६ Jagran Hindi News - uttarakhand:dehradun-city

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय का कहना है कि आइसीएसई बोर्ड से संबंध स्कूलों को भी एनसीईआरटी के दायरे में लाया जाएगा। पर पूर्ण लेख आइसीएसई बोर्ड से संबंद्ध स्कूल भी आएंगे एनसीईआरटी के दायरे में

Vice सभी समाचार Time१६ अप्रैल २०१८ १६:२७:५६


Ads

आईसीएसई बोर्ड में देजलदे का दूसरा स्थान

1.2448283 २५ मई २०१६ ०१:११:२० bhaskar

जालोर | आईसीएसईबोर्ड नई दिल्ली की ओर से आयोजित सेकेंडरी परीक्षा में माउंट आबू की सोफिया स्कूल में पढ़ने वाली जालोर की बेटी देजलदे करणोत ने परीक्षा में 91.7 प्रतिशत अंक लाने के साथ स्कूल में द्वितीय स्थान प्राप्त किया हैं। कुमारी देजलदे के पिता चैनसिंह करणोत राउमा विद्यालय जालोर शहरी स्कूल में इतिहास के व्याख्याता हैं। जालोर जिले के मूडी गांव की रहने वाली देजलदे के अच्छे अंकों से पूरी स्कूल में सेकंड आने पर गांव समाज वालों ने देजलदे का स्वागत किया।

Vice null Time२५ मई २०१६ ०१:११:२०


ग्रीष्म अवकाश में आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों को छूट

1.2448283 १७ मई २०१६ २१:३७:५१ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित करने पर आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों के प्रधानाचार्यों ने जिलाधिकारी से इसमें शिथिलता बरतने का अनुरोध किया है।

Vice null Time१७ मई २०१६ २१:३७:५१


आईसीएसई बोर्ड से डॉन बॉस्को स्कूल कोकर को मिली प्लस टू की मान्यता

1.1774441 १४ मई २०१६ २३:३२:२३ bhaskar

को-एजुकेशनल स्कूल डॉन बॉस्को, कोकर को काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल (आईसीएसई), नई दिल्ली से प्लस टू की मान्यता मिल गई है। आईसीएसई से एफिलिएशन (संबद्धता) मिलने की खबर से यहां पढ़नेवाले स्टूडेंट्स, उनके अभिभावकों और स्कूल के शिक्षक और कर्मचारियों में शनिवार को काफी हर्ष देखा गया। प्रसन्नता जाहिर करते हुए स्कूल के प्रिंसिपल फादर ज्योतिष किंडो ने भास्कर को बताया कि दो वर्ष अथक प्रयास के बाद डॉन स्कूल को आईसीएसई से प्लस टू की मान्यता मिली है। सबसे खुशी की बात यह है कि अब यहां से 10वीं पास करनेवाले स्टूडेंट्स को आईसीएसई बोर्ड की 11वीं और 12वीं की पढ़ाई और परीक्षा के लिए दूसरे जगह भटकना नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि एफिलिएशन को लेकर ही स्कूल के इंफ्रास्ट्रक्चर को पिछले कुछ दिनों से लगातार बेहतर बनाया जा रहा था। इन्हीं अर्हताओं की वजह से यह संबद्धता मिली है। उन्होंने कहा कि एफिलिएशन मिल गया है, अब यहां के स्टूडेंट्स को वर्तमान युग के हिसाब से तैयार किया जाएगा, ताकि भविष्य में उन्हें सफलता मिलने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। प्राचार्य ने बताया कि प्लस टू में...

Vice null Time१४ मई २०१६ २३:३२:२३


अब कोचिंग, स्कूल और शोरूम भी आएंगे बायलॉज के दायरे में

1.037357 ०४ फ़रवरी २०१६ ००:०९:०६ bhaskar

कोटा|शहर मेंचल रही कोचिंग इंडस्ट्रीज, प्राइवेट स्कूल और बड़े शोरूम के लिए भी नगर निगम बायलाज बनाएगा। इस नियम को लागू करवाने के लिए नगर निगम आगामी 13 फरवरी को होने वाली बोर्ड की बैठक में प्रस्ताव रखेगा। यदि प्रस्ताव पारित हो गया तो शीघ्र ही इनके लिए अलग-अलग बायलॉज बनाए जाएंगे। इसके लिए सभी कोचिंग, प्राइवेट स्कूल शोरूम को निगम में रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य होगा। निगम की राजस्व समिति के अध्यक्ष महेश गौतम लल्ली के अनुसार अभी तक कोचिंग संस्थानों, स्कूलों शोरूम नगर निगम के दायरे में नहीं आते थे। इनके लिए बायलॉज नहीं होने के कारण इनका निगम में रजिस्ट्रेशन भी जरूरी नहीं था। स्मार्ट सिटी के लिए जब निगम की आय बढ़ाने और आय के स्रोत तैयार करने की बात आई तो इस संबंध में अधिकारियों के साथ चर्चा हुई है। इसके बाद सभी ने इस पर सहमति व्यक्त कर दी, लेकिन किसी भी नए बायलॉज को बनाने और लागू करने के लिए बोर्ड में प्रस्ताव पारित करवाना अनिवार्य होता है। इसलिए 13 फरवरी को होने वाली बैठक में इस प्रस्ताव को रखा जाएगा।

Vice null Time०४ फ़रवरी २०१६ ००:०९:०६


फिर बोर्ड के दायरे में आएंगी 5वीं-8वीं कक्षाएं

1.0289518 १५ नवंबर २०१५ ०८:५२:१२ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

पांचवीं और आठवीं कक्षा को फिर से स्कूल शिक्षा बोर्ड के दायरे में लाया जाएगा। साल 2016 में नई शिक्षा नीति तैयार की जाएगी।

Vice सभी समाचार Time१५ नवंबर २०१५ ०८:५२:१२


वाईपीएस की आईएससी-आईसीएसई बोर्ड में सरदारी

1.0289518 १८ मई २०१५ २२:५१:०८ bhaskar

यादविंद्रापब्लिक स्कूल के स्टूडेंट्स ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 12वीं (आईएससी) और 10वीं (आईसीएसई) में टॉप किया। देवांग महेश ने 10वीं बोर्ड में 98.2 फीसदी अंक लेकर जिले में पहला स्थान पाया। बहन-भाई की जोड़ी पुनीशा और नमन ने अपनी अपनी क्लास में बेहतर प्रदर्शन किया। सोमवार को घोषित रिजल्ट्स में वाईपीएस की कशिश गोयल और अक्षिता गर्ग ने कॉमर्स में 98 फीसदी अंक लेकर टॉप किया। पुनीशा सिंगला ने 96 फीसदी अंक से साइंस स्ट्रीम में बाजी मारी। सानिया दर्दी को कॉमर्स में 95.75 फीसदी अंक मिले। वहीं हरगुरलीन बल ने ह्यूमैनिटीज में 95.5 फीसदी अंक लेकर टॉप किया। 10वीं में देवांग महेश ने 98.2 फीसदी स्कोर करते हुए टॉप किया। काम्या पुरी 97.4 फीसदी और नमन सिंगला 97.2 फीसदी अंक के साथ दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। प्रिंसिपल एसवी कुमार ने बताया कि 12वीं में 99 स्टूडेंट्स में से 22 स्टूडेंट्स ने 90 फीसदी से ज्यादा अंक हासिल किए। 12वीं के टॉपर्स में से 2 ने मैथ्स और एक ने अकाउंट्स में 100 फीसदी नंबर हासिल किए। 10वीं के 143 स्टूडेंट्स में से 50 स्टूडेंट्स ने 90 फीसदी से ज्यादा और 15 स्टूडेंट्स ने 95 फीसदी से ज्यादा अंक...

Vice null Time१८ मई २०१५ २२:५१:०८


केन्द्रीय बोर्ड के स्कूलों में अब एनसीईआरटी पाठ्यक्रम अनिवार्य

0.96583074 २८ मार्च २०१५ ०२:१०:५४ bhaskar

जबलपुर. निजी स्कूलों की मनमानियां सिर चढ़कर बोल रही है। एक तो मोटी-मोटी फीस देकर अभिभावकों के माथे पर बल पड़ रहे हैं, तो दूसरी ओरकिताबों के नाम पर जमकर जेब ढीली हो रही है। आदेश के मुताबिक तो केन्द्रीय बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूलों में एनसीईआरटी द्वारा प्रकाशित पुस्तकें ही चलाने के निर्देश शासन ने दिए हैं, वहीं एमपी बोर्ड के स्कूलों में पाठयपुस्तक निगम की पुस्तकों से अध्यापन कराने कहा गया है, परंतु इन आदेशों की स्कूल संचालक जमकर अवहेलना कर रहे हैं। बार-बार आदेश निकालने बाद भी सीबीएसई स्कूल एनसीईआरटी पाठयक्रम की पुस्तकें चलाने राजी नहीं हैं। इसकी वजह है कि जहां इस पाठयक्रम की एक पुस्तक 60 से 70 रुपए में मिल जाती है, वहीं निजी प्रकाशकों की वे पुस्तकें जिनसे स्कूलों में अध्यापन कराया जा रहा है वे 3 सौ से 5 सौ या उससे अधिक कीमत पर मिलती है। इस तरह एनसीईआरटी की पुस्तकों का पूरा सेट अभिभावकों को पांच सौ के भीतर पड़ जाता है। वहीं अन्य पुस्तकों का सेट तीन से पांच हजार के बीच पड़ता है। यदि देखा जाए तो एक छात्र से ही हजारों की कमाई स्कूल प्रबंधन कर...

Vice null Time२८ मार्च २०१५ ०२:१०:५४


आईसीएसई बोर्ड दसवीं के एग्जाम शुरू

0.96583074 २७ फ़रवरी २०१५ १५:३९:५३ bhaskar

लुधियाना। इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन(आईसीएसई) के दसवीं क्लास के बोर्ड एग्जाम शुक्रवार को शुरू हो गए। इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकंडरी एग्जामिनेशन(आईसीएसए) के तहत करवाए जा रहे इस एग्जाम में शहर के दो स्कूलों के स्टूडेंट्स हिस्सा ले रहे हैं। इंग्लिश पेपर वन के साथ शुरू हुए पेपर्स को लेकर दसवीं क्लास के स्टूडेंट्स में खुशी देखने को मिली। स्टूडेंट्स अपने पहले बोर्ड के एग्जाम को लेकर काफी उत्साहित दिखे। स्टूडेंट्स के अनुसार उन्हें पेपर वन काफी आसान लगा। स्टूडेंट मनबीर ने बताया कि इंग्लिश का ये एग्जाम उनकी उम्मीद से कहीं आसान था। शहर के दो स्कूलों में आईसीएसई बोर्ड के ये एग्जाम हो रहे हैं। सिमरनप्रीत के अनुसार एग्जाम्स तो अच्छे ही होंगे लेकिन रिजल्ट आने पर ही कुछ कहा जा सकता है। कंपीटिशन के समय में मार्क्स की ज्यादा अहमियत है, जिससे कि अपनी पसंद के कोर्स व स्ट्रीम में एडमिशन ले सकें।

Vice null Time२७ फ़रवरी २०१५ १५:३९:५३


आईसीएसई ईएससी की बोर्ड परीक्षाएं प्रारंभ

0.91038483 २६ फ़रवरी २०१५ २१:४५:४४ bhaskar

धमतरी| सेंटजेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में संस्था के चेयरमैन डॉ आगस्टीन पिन्टो एवं डायरेक्टर ग्रेस पिन्टो के निर्देशन में 10वीं एवं 12वीं आईसीएसई और ईएससी बोर्ड की परीक्षाएं प्रारंभ हुई। परीक्षा एलपी विश्वास के निरीक्षण में चल रहा है। परीक्षा 30 मार्च तक जारी रहेगा।

Vice null Time२६ फ़रवरी २०१५ २१:४५:४४


आईसीएसई बोर्ड के एग्जाम हुए शुरू

0.8451019 २५ फ़रवरी २०१५ २३:२१:४३ bhaskar

लुधियाना|इंडियन स्कूलसर्टिफिकेट एग्जामिनेशन(आईसीएसई) के बोर्ड एग्जाम बुधवार से शुरू हो गए। 12वीं के फिजिकल एजुकेशन पेपर वन के साथ शुरू हुए एग्जाम को स्टूडेंट्स ने काफी आसान बताया। दुगरी स्थित सत्त पॉल मित्तल स्कूल के बच्चों के चेहरों पर एग्जाम के बाद काफी खुशी देखने को मिली। इसी तरह सेक्रेड हार्ट कॉन्वेंट स्कूल, 39 सेक्टर में भी बच्चों ने एग्जाम दिए। गौरतलब है कि 10वीं के एग्जाम भी शुक्रवार से हिंदी विषय के पहले एग्जाम के साथ शुरू होने जा रहे हैं। फिजिकल का एग्जाम देने के बाद स्टूडेंट रागेश्वरी ने बताया कि पेपर काफी आसान और सिलेबस से ही आया था।

Vice null Time२५ फ़रवरी २०१५ २३:२१:४३