प्रधान ने नवीन पर साधा निशाना

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१६ अप्रैल २०१८ १५:०४:०४ Jagran Hindi News - odisha:bhubaneshwar

हर दिन सामंतशाही घोषणा, ओडिशा के आम आदमी के कष्ट से अर्जित पैसे का निहित स्वार्थ के लिए बांटने का यह एक षडयंत्र है। पर पूर्ण लेख प्रधान ने नवीन पर साधा निशाना

Vice सभी समाचार Time१६ अप्रैल २०१८ १५:०४:०४


Ads

कांग्रेस ने साधा नवीन सरकार पर निशाना

4.199006 ०५ अप्रैल २०१८ १४:५०:२७ Jagran Hindi News - odisha:sambalpur

कामकाज की तलाश में लोग अन्य प्रदेशों की ओर पलायन कर वहां शोषण व अत्याचार का शिकार हो रहे हैं।

Vice सभी समाचार Time०५ अप्रैल २०१८ १४:५०:२७


भाजयुमो ने नवीन पटनायक की सरकार पर साधा निशाना

3.5991478 २८ जनवरी २०१८ ११:३१:२६ Jagran Hindi News - odisha:bhubaneshwar

भाजयुमो नेता ने कहा कि नवीन पटनायक को गद्दी से हटाने तक मोर्चा अपना आंदोलन जारी रखेगा।

Vice सभी समाचार Time२८ जनवरी २०१८ ११:३१:२६


अपना दायित्व निभाएं नवीन: प्रधान

2.436986 ०६ दिसंबर २०१७ १०:२८:२६ Jagran Hindi News - odisha:bhubaneshwar

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सोमवार को इस पुल को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला था, जिसका जवाब धर्मेन्द्र प्रधान ने दिया है।

Vice सभी समाचार Time०६ दिसंबर २०१७ १०:२८:२६


नवीन सरकार पर बरसे प्रधान

2.436986 ०८ नवंबर २०१७ १५:५५:२४ Jagran Hindi News - odisha:bhubaneshwar

प्रधान ने कहा कि ओडिशा सरकार किसान हत्याकारी सरकार है। भाजपा शासित राज्यों में राज्य बजट से किसानों के कर्ज माफ किए गए हैं।

Vice सभी समाचार Time०८ नवंबर २०१७ १५:५५:२४


नवीन सरकार पर बरसे प्रधान

2.436986 ०५ जून २०१७ ११:४८:३४ Jagran Hindi News - odisha:cuttack

मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की कई योजनाओं को सूबे की नवीन सरकार ने अपनी बता वाहवाही लूट रही है।

Vice सभी समाचार Time०५ जून २०१७ ११:४८:३४


प्रधान गुरचरन सिंह चन्नी ने निशाना साधा कांग्रेस के मंत्रियों पर

2.0960338 ०२ दिसंबर २०१५ ०४:१३:२२ दैनिक सवेरा

प्रधान गुरचरन सिंह चन्नी ने निशाना साधा कांग्रेस के मंत्रियों पर

Vice null Time०२ दिसंबर २०१५ ०४:१३:२२


नवीन कथूरिया प्रधान बने

2.0960338 २० जुलाई २०१५ २२:३०:५५ bhaskar

फतेहाबाद | व्यापारमंडल फतेहाबाद के प्रधान अशोक नारंग की अध्यक्षता में बैटरी-इन्वर्टर डीलर एसोसिएशन का गठन किया गया। संजीव कुमार ने बताया कि सभी बैटरी डीलर्स की उपस्थिति में सर्वसम्मति से राजाराम को संरक्षक, नवीन कथूरिया को प्रधान, महेंद्र नारंग को सचिव, चंद्र जुनेजा को कोषाध्यक्ष चुना गया। इसके अलावा नरेश नारंग, अमीरचंद, दर्शन कंबोज, जोगी कुमार को उपप्रधान, संदीप नारंग को सहसचिव राजेश बांसल को सलाहकार नियुक्त किया गया है।

Vice null Time२० जुलाई २०१५ २२:३०:५५


व्यापमं: आईटी रिपोर्ट के जरिए कांग्रेस ने धमेंद्र प्रधान, प्रभात झा और सुरेश सोनी पर साधा निशाना

2.0960338 १५ जुलाई २०१५ १९:२३:४५ Live Hindustan Rss feed

संसद के मानसून सत्र से पहले कांग्रेस ने एक बार फिर व्यापम मामले को उठाते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के इस्तीफे की मांग की है। पार्टी का कहना है कि जब तक शिवराज सिंह चौहान अपने पद पर बने रहेंगे, निष्पक्ष जांच की उम्मीद कम है।

Vice सभी समाचार Time१५ जुलाई २०१५ १९:२३:४५


झाविमो के प्रधान ने बागी विधायकों पर साधा निशाना, कहा, जनता के साथ हुआ धोखा

2.0960338 १३ फ़रवरी २०१५ २३:०९:०३ bhaskar

रांची. झाविमो के प्रधान महासचिव सह विधायक दल के नेता प्रदीप यादव ने कहा कि झारखंड के कई विधायक लालची और अति महत्वाकांक्षी हैं। पहली बार विधायक चुने जाने के साथ ही वे सब कुछ हासिल कर लेना चाहते हैं। सब कुछ का मतलब है पैसा, सत्ता सुख और पावर। राजनीति की इस चकाचौंध भरी दुनिया ने झाविमो विधायकों के पैर भी डगमगा दिए। भाजपा को नकारते हुए जनता ने जिन लोगों को अपना प्रतिनिधि चुना, वे सत्तासुख के लिए भाजपा की ही गोद में बैठ गए। न कोई राजनीतिक विचारधारा और न ही जनता का भय। पिछली विधानसभा मेें झाविमो के 11 विधायक थे। चुनाव से ऐन पहले आठ विधायकों ने भाजपा सहित अन्य दलों का दामन थाम लिया था। 2014 के चुनाव में पार्टी के आठ विधायक चुन कर आए, जिनमें से छह भाजपा में शामिल हो गए। आिखर यह जनता के साथ धोखा ही तो है। विधायकों की इस दलबदल पर दैनिक भास्कर के सतीश कुमार ने यादव से विशेष बातचीत की। प्रस्तुत है इसके मुख्य अंश : भाजपा रुपी बड़ी मछली छोटी मछली झाविमो को निगलने की कर रही कोशिश झाविमो में आंतरिक प्रजातंत्र समाप्त हो गया है क्या? हर कोई भाग रहा है। ऐसी...

Vice null Time१३ फ़रवरी २०१५ २३:०९:०३


गजुटा प्रधान ने वीसी पर साधा निशाना बोले-नसीहतें देने के बजाय काम करें

1.9495888 १६ जनवरी २०१५ २३:०२:०८ bhaskar

गजुटाके प्रधान अनिल भानखड़ ने कहा कि कुलपति डॉ. आरएस शर्मा विश्वविद्यालय के कर्मचारियों को नसीहत देना बंद कर विश्वविद्यालय में आकर काम करना शुरू करें। ग्रेड मिलने पर कुलपति ने विश्वविद्यालय के सभी विभागाध्यक्षों अधिकारियों कि मीटिंग लेते हुए उन्हें अधिक मेहनत करने की नसीहत दी। गजुटा प्रधान ने कहा कि कुलपति विश्वविद्यालय में महीनों तक आते नहीं और मीटिंगों में नसीहत देते हैं। विश्वविद्यालय को ग्रेड मिलने का श्रेय ले रहे हैं, जबकि ये प्राध्यापकों और कर्मचारियों की मेहनत का नतीजा है। वह भी ऐसे हालात में जब तो शोध के लिए ग्रांट है और ही लैब में उपकरण हैं। ग्रेड में मिलने वाले अंकों में पिछली बार के मुकाबले में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है तो इसका मतलब यह है कि 5 साल में विश्वविद्यालय ने कोई तरक्की नहीं की। गजुटा ने निर्णय लिया है कि पिछले कई वर्षों से शैक्षिक एवं निर्माण संबंधी घपलों की रिपोर्ट बनाकर प्रमाणों के साथ हफ्तेभर के अंदर मुख्यमंत्री राज्यपाल को सौंपेंगी। आम पब्लिक के पैसे की बर्बादी एवं शैक्षणिक माहौल की खराबी के जिम्मेदार लोगों पर...

Vice null Time१६ जनवरी २०१५ २३:०२:०८