जस्टिस खानविलकर सुनवाई से अलग हुए

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१३ फ़रवरी २०१८ १९:३४:०८ Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news

नई दिल्ली — बोफोर्स तोप दलाली मामले में अधिवक्ता अजय अग्रवाल की अपील की सुनवाई मंगलवार को उच्चतम न्यायालय में नहीं हो सकी, क्योंकि संबंधित पीठ के एक न्यायाधीश ने खुद को सुनवाई से अलग कर लिया। दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ श्री अग्रवाल की विशेष अनुमति याचिका मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति The post जस्टिस खानविलकर सुनवाई से अलग हुए appeared first on Divya Himachal: No. 1 in Himachal news - News - Hindi news - Himachal news - latest Himachal news . पर पूर्ण लेख जस्टिस खानविलकर सुनवाई से अलग हुए

Vice null Time१३ फ़रवरी २०१८ १९:३४:०८


Ads

प्रद्युम्न मर्डर केस: अब सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस ने सुनवाई से खुद को किया अलग

2.603087 ०४ दिसंबर २०१७ ०९:३९:५९ Jagran Hindi News - delhi:new-delhi-city

प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर के साथ वकील आभा शर्मा व अन्य वकीलों ने भी सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है।

Vice सभी समाचार Time०४ दिसंबर २०१७ ०९:३९:५९


ये पांच जस्टिस कर रहे हैं तीन तलाक पर सुनवाई

2.603087 ११ मई २०१७ ११:३४:३८ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की एक बेंच तीन तलाक पर सुनवाई कर रहा है। तीन तलाक मुसलमानों से जुड़ी एक विवादित प्रथा है। इस विवाद को निपटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने पांच जजों की जो बेंच बनाई है उसमें सभी अलग-अलग धर्मों से हैं।

Vice सभी समाचार Time११ मई २०१७ ११:३४:३८


हाई कोर्ट जस्टिस श्रीवास्तव जबलपुर व जस्टिस माहेश्वरी इंदौर में करेंगे सुनवाई

2.603087 २७ नवंबर २०१६ ००:०५:०६ bhaskar

इंदौर | हाई कोर्ट की इंदौर खंडपीठ से जस्टिस प्रकाश श्रीवास्तव को रोस्टर प्रणाली के तहत जबलपुर स्थित मुख्य बेंच में सुनवाई करने के लिए भेजा है, जबकि जस्टिस जेके माहेश्वरी को ग्वालियर खंडपीठ से इंदौर भेजा गया है। संभवत: सात दिसंबर तक रोस्टर के तहत दोनों जज सुनवाई करेंगे। पिछले दिनों इस सिस्टम के तहत आदेश जारी किए गए थे। दो सप्ताह के लिए यह व्यवस्था की गई है। उल्लेखनीय है जस्टिस माहेश्वरी पहले इंदौर खंडपीठ में ही सेवाएं दे रहे थे। उन्हें ग्वालियर खंडपीठ में भेजा गया है।

Vice null Time२७ नवंबर २०१६ ००:०५:०६


अधिकारों की जंग : जस्ट‌िस खेहर ने खुद को क‌िया केस से अलग, कल होगी सुनवाई

2.1692393 ०४ जुलाई २०१६ १०:३८:५५ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

दिल्ली और केंद्र सरकार के बीच चल रही अधिकारों की जंग को लेकर जो मामला सुप्रीम कोर्ट में दायर किया गया था उसमें जस्ट‌िस खेहर ने खुद को इस मामले से अलग कर ल‌‌िया है।

Vice null Time०४ जुलाई २०१६ १०:३८:५५


हाईकोर्ट : नवनियुक्त जस्टिस ने की सुनवाई

2.1692393 ११ अप्रैल २०१६ २३:४१:१४ bhaskar

ग्वालियर| नवनियुक्त जस्टिस सुश्रुत धर्माधिकारी,आनंद पाठक और विवेक अग्रवाल ने हाईकोर्ट की ग्वालियर खंडपीठ में सोमवार से अपना न्यायिक कार्य शुरु किया। जस्टिस सुश्रुत धर्माधिकारी व जस्टिस आनंद पाठक ने सिंगल बेंच में सुनवाई की। वहीं जस्टिस विवेक अग्रवाल डिवीजन बेंच में बैठे। जस्टिस ने कुछ मामलों का निराकरण भी किया।

Vice null Time११ अप्रैल २०१६ २३:४१:१४


शपथ लेंगे 11 नए जज, हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस खानविलकर दिलाएंगे शपथ

2.1692393 ०७ अप्रैल २०१६ ०१:०३:३१ bhaskar

जबलपुर. मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में गुरुवार को 11 नए अतिरिक्त न्यायाधीशों की नियुक्ति होगी। चीफ जस्टिस एएम खानविलकर नए जजों को दोपहर में शपथ दिलाएंगे। वर्तमान में हाईकोर्ट में जजों की कुल स्वीकृत संख्या 53 है। अभी 29 जज कार्यरत हैं, जबकि 24 पद खाली हैं। जज बनने वालों में जबलपुर से विवेक रूसिया, विवेक अग्रवाल, सुश्रुत धर्माधिकारी, इंदौर से अतुल श्रीधरन, आनंद पाठक और ग्वालियर से नंदिता दुबे शामिल हैं। न्यायिक अधिकारियों में पूर्व रजिस्ट्रार जनरल वेदप्रकाश, वर्तमान जिला जज अनुराग श्रीवास्तव, एचपी सिंह, एके जोशी और जेपी गुप्ता शामिल हैं। जस्टिस केमकर का तबादला मुंबई हाईकोर्ट मप्र हाईकोर्ट की मुख्यपीठ में पदस्थ जस्टिस शांतनु केमकर का तबादला मुंबई हाईकोर्ट कर दिया गया है। जस्टिस केमकर को 19 अप्रैल तक मुंबई हाईकोर्ट में पदभार संभालना है। जबलपुर से पहले केमकर इंदौर बेंच में प्रशासनिक न्यायाधीश थे। विवेक रूसिया 2 अगस्त 1969 को जन्मे विवेक रूसिया पिछले 22 साल से मप्र हाईकोर्ट में वकालत कर रहे हैं। उनके पिता प्रभाकर रूसिया भी एक वरिष्ठ...

Vice null Time०७ अप्रैल २०१६ ०१:०३:३१


नीरा यादव की सुनवाई से जस्टिस अग्रवाल ने खुद को अलग किया

2.1692393 २९ मार्च २०१६ ०२:१६:१३ Jagran Hindi News - news:national

नोएडा प्लाट आबंटन घोटाला मामले में उप्र की पूर्व मुख्य सचिव नीरा यादव की याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस आरके अग्रवाल ने खुद को अलग कर लिया है। यादव ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देते हुए अपने को दोष मुक्त करने की अपील

Vice सभी समाचार Time२९ मार्च २०१६ ०२:१६:१३


जस्टिस सूर्यकांत ने खुद को सुनवाई से कर लिया अलग

1.7488947 ३० जनवरी २०१६ ०१:४०:३१ bhaskar

चंडीगढ़ | प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला और उनके पुत्र अजय चौटाला को जेल में होने के बावजूद पेंशन दिए जाने के विरोध में दाखिल याचिका पर शुक्रवार को जस्टिस सूर्यकांत की बेंच ने सुनवाई से इंकार कर दिया। जस्टिस सूर्यकांत ने खुद को सुनवाई से अलग करते हुए केस को वापस कार्यवाहक चीफ जस्टिस को भेज दिया, जो केस को अब किसी अन्य बेंच को सुनवाई के लिए रेफर करेंगे। एडवोकेट एचसी अरोड़ा की तरफ से दाखिल याचिका में कहा गया कि सूचना के अधिकार (आरटीआई) के जरिए उन्होंने पेंशन के बारे में जानकारी हासिल की थी। भ्रष्टाचार के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला और उनके बेटे अजय चौटाला को कोर्ट ने सजा सुनाई है। सजा के चलते वे विधानसभा की पेंशन लेने के लिए अयोग्य हैं। बावजूद इसके उन्हें पेंशन दी जा रही है। याची ने आरटीआई से मिली जानकारी का हवाला देते हुए कहा कि विधानसभा वर्तमान में 288 विधायकों को पेंशन का भुगतान कर रही है। पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला को 2 लाख 15 हजार 430 रुपए उनके बेटे, जो पूर्व विधायक थे उन्हें 50 हजार 100 रुपए की पेंशन का भुगतान किया जा रहा...

Vice null Time३० जनवरी २०१६ ०१:४०:३१


टुटेजा के मामले की सुनवाई से अलग हुए जस्टिस श्रीवास्तव

1.6215718 १२ अगस्त २०१५ २३:२८:२६ bhaskar

नान के तत्कालीन प्रबंध संचालक अनिल टुटेजा के खिलाफ अपराध दर्ज होने के बाद उसने अग्रिम जमानत के लिए हाईकोर्ट में अर्जी लगाई। जस्टिस मनींद्र मोहन श्रीवास्तव ने व्यक्तिगत कारणों से मामले की सुनवाई से खुद को अलग करते हुए इसे दूसरी बैंच को रेफर कर दिया। अर्जी में टुटेजा ने अपने खिलाफ झूठी रिपोर्ट दर्ज कराने और नान घोटाले में अनावश्यक रूप से फंसाकर परेशान करने की बात कही है। मामले की सुनवाई जस्टिस मनींद्र मोहन श्रीवास्तव की बैंच में होनी थी। नान घोटाला

Vice null Time१२ अगस्त २०१५ २३:२८:२६


व्यापमं मामला : हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने केस की सुनवाई से खुद को किया अलग

1.6215718 २७ जुलाई २०१५ ०३:४४:४० bhaskar

जबलपुर. मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस अजय माणिकराव खानविलकर ने व्यापमं मामले के सभी केसों की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया है। उनकी जगह जस्टिस एसएस केमकर और जस्टिस केके त्रिवेदी की स्पेशल बेंच सुनवाई करेगी। चीफ जस्टिस खानविलकर क्यों हटे। अभी इसके कारणों का खुलासा नहीं हुआ है। हालांकि शनिवार देर शाम हाईकोर्ट ने रोस्टर में तब्दीली के आदेश जारी कर दिए। पिछले डेढ़ साल से चीफ जस्टिस खानविलकर की बेंच ही व्यापमं से जुड़े केसों की सुनवाई कर रही थी। इस मामले की जांच कर रही मध्यप्रदेश की एसआईटी कोर्ट को 10 स्टेट्स रिपोर्ट सौंप चुकी है। एसआईटी ने इस मामले में 55 एफआईआर दर्ज की हैं। वह 26 चार्ज शीटें दाखिल कर चुकी है। हाईकोर्ट की शरण में हैं कई हाई प्रोफाइल लोग व्यापमं घोटाले से जुड़े कई हाई प्रोफाइल आरोपियों की जमानत अर्जियां मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में पेंडिंग हैं। इनमें मध्य प्रदेश के प्रभावशाली खनन कारोबारी सुधीर शर्मा, पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा, उनके ओएसडी रहे ओपी शुक्ला और इन्दौर के अरबिंदो हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ. विनोद भंडारी...

Vice null Time२७ जुलाई २०१५ ०३:४४:४०