औसत वर्षा में आ रही कमी, ध्यान दे पर्यावरण विभाग: नीतीश

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१३ फ़रवरी २०१८ १८:३३:५१ Jagran Hindi News - bihar:patna-city

सीएम नीतीश ने बिहार के औसत वर्षापात में कमी पर पर्यावरण विभाग का ध्‍यान आकृष्‍ट करवाया। कहा कि हरित आवरण 17 प्रतिशत तक ले जाने का लक्ष्य हासिल करना चाहिए। पर पूर्ण लेख औसत वर्षा में आ रही कमी, ध्यान दे पर्यावरण विभाग: नीतीश

Vice सभी समाचार Time१३ फ़रवरी २०१८ १८:३३:५१


Ads

गोदामों से हो रही शराब की बिक्री, विभाग नहीं दे रहा ध्यान

1.1125227 २२ अक्‍तूबर २०१६ २३:१८:५३ bhaskar

आबकारीविभाग के अधिकारियों की मिलीभगत के चलते मनियां कस्बे के अलावा ग्रामीण क्षेत्र में जगह जगह गोदाम बनाकर अवैध बिक्री की जा रही हैं। इसे लेकर कई बार लोगों ने स्थानीय अधिकारियों को शिकायत की है लेकिन विभाग के अधिकारियों की ओर से कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। आलम यह है कि आबकारी आयुक्त के आदेशों की भी पालना नहींं की जा रही हैं। जिसके एवज में विभाग के अधिकारी आबकारी ठेकेदारों से हर महीने सेवादारी भी ले रहे हैं। हाल ही में आबकारी आयुक्त की ओर से जारी आदेशों में शहरी दुकान के 500 मीटर ग्रामीणों क्षेत्र में एक किमी की परिधि में गोदाम का संचालन किया जा सकता है परन्तु ग्रामीण क्षेत्र में एक किलोमीटर के क्षेत्र के दायरे में नही होकर करीब 6 किलोमीटर के दायरे में गोदाम संचालित हो रहे हैं, जो कि गैरकानूनी हैं। लेकिन जिले में विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत के चलते कई जगहों पर दुकानों के गोदाम 5 से 6 किलोमीटर की दूरी पर संचालित किए जा रहे हैं। जिनसे शराब की अवैध बिक्री भी की जा रही है। लेकिन विभाग के अधिकारियों की कुंभकर्णीय नींद खुलने का नाम नहीं ले रही है। आम...

Vice null Time२२ अक्‍तूबर २०१६ २३:१८:५३


अब तक 14.4 सेमी औसत वर्षा पर पिछले साल से कम

1.0576249 २८ जून २०१६ ००:२१:१२ bhaskar

सीहोर| जिले में पिछलेे 24 घंटों में 0.4 मिली मीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर एक जून से अभी तक जिले में 14.4 सेमी औसत बारिश रिकार्ड की जा चुकी है। पिछल साल इस अवधि में 18.6 सेमी औसत वर्षा आंकी गई थी। अधीक्षक भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटे में सीहोर में 2 तथा श्यामपुर में 1.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 133, श्यामपुर में 164.4, आष्टा में 199, जावर में 154.1, इछावर में 137.4, नसरूल्लागंज में 169, बुधनी में 62 तथा रेहटी में 104.4 मिलीमीटर वर्षा रिकार्ड की गई है। इस अवधि में गत वर्ष सीहोर में 197.5, आष्टा में 174, इछावर में 200, नसरूल्लागंज में 189 तथा बुधनी में 172 िममी वर्षा रिकार्ड की गई थी।

Vice null Time२८ जून २०१६ ००:२१:१२


शहर में बिक रही दूषित पानी से बनी बर्फ, सेहत विभाग नहीं दे रहा ध्यान

0.9566145 १६ अप्रैल २०१६ २३:००:०९ bhaskar

गन्नेका रस, चुस्की और ठेले की आइसक्रीम कुछ देर के लिए गर्मी से राहत तो दे सकती है, पर सेहत पर इसके गंभीर असर के बारे में लोगों का ध्यान ही नहीं है। बाजार में बिक रही ज्यादातर बर्फ दूषित पानी से तैयार की जा रही है। इस बर्फ के सेवन से पेट संबंधी बीमारियां और पीलिया तक हो सकता है। गर्मी का मौसम शुरू होते ही जगह-जगह गन्ने का रस, लस्सी और जूस की बिक्री शुरू हो गई है। जगह-जगह बिकने वाली इन चीजों में जिस बर्फ का प्रयोग किया जाता है, उसका सेवन खतरे से खाली नहीं है। माना जाता है कि गन्ने का रस पीलिया का रामबाण इलाज है। लेकिन गन्ना रस में अशुद्ध पानी से बनी बर्फ हो तो यह भले-चंगे आदमी को भी पीलिया का मरीज बना सकता है। हो सकती है इंफेक्शन शहरके ग्लोबल हेल्थ केयर अस्पताल में तैनात एमडी मेडिसन डॉ. केके गोयल के मुताबिक दूषित बर्फ के सेवन से पेट में इंफेक्शन, उल्टी-दस्त, टाइफाइड, पीलिया सहित कई अन्य बीमारियां हो सकती हैं। ठंडे पेय पदार्थों के उपयोग से पहले क्वालिटी की पड़ताल कर लेनी चाहिए। जल्द किया जाएगा निरीक्षण ^लोगोंकी सेहत का ध्यान सेहत विभाग को है। हमारी फूड टीम जल्द...

Vice null Time१६ अप्रैल २०१६ २३:००:०९


पर्यावरण पर ध्यान देना जरूरी: एडीजीपी

0.8439252 १६ फ़रवरी २०१६ १४:०६:५१ Jagran Hindi News - punjab:chandigarh

जागरण संवाददाता, चंडीगढ़ मोती राम आर्य सीनियर सेकेंडरी स्कूल में पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन कि

Vice सभी समाचार Time१६ फ़रवरी २०१६ १४:०६:५१


खुफिया विभाग नहीं दे रहा ध्यान

0.8439252 ०५ जनवरी २०१६ २२:४०:१६ bhaskar

पटियाला। अखिलभारतीय हिंदू क्रांति दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष लखविंदर सरीन और जिला प्रमुख संजय शर्मा ने कहा कि पठानकोट की घटना पर दुख जताया। कहा, पहले भी पाकिस्तानी एजेंट गिरफ्तार हो चुके है पर पंजाब पुलिस का खुफिया विभाग इस ओर ध्यान नहीं दे रहा।

Vice null Time०५ जनवरी २०१६ २२:४०:१६


औसत से कम बारिश, खराब हो रही फसल

0.8159712 ३० जुलाई २०१५ ००:२२:५८ bhaskar

बारिश के अभाव में सूख रहा खेत। किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें भास्कर संवाददाता | भिंड प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में जहां बारिश औसत स्तर से हुई है, वहीं जिले में बरसात औसत से कम हुई है। इसके चलते खरीफ सीजन की फसल पर संकट के बादल छाने लगे हैं। बोवनी के बाद पानी न बरसने के कारण खेतों में बीज नष्ट हो गया है। जिससे किसानों के चेहरे पर चिंता की लकीरें उभर आई हैं। जिले में बरसात का प्रतिशत कम होने से खरीफ की फसल पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं। पिछले दिनों बारिश होने के बाद किसानों द्वारा अपने खेतों में बोवनी कर दी गई थी। इसके बाद से बारिश होना बंद होकर तेज धूप निकलना आरंभ हो गई। इस कारण खेतों की नमी कम होने लगी। लगातार मिट्‌टी की नमी कम होने से खेतों में डाला गया बीज व अंकुरित हो चुकी फसल जल कर नष्ट हो रही है। माैजूदा समय में लगभग 35 प्रतिशत फसल खराब होने से उत्पादन कम होने की समस्या उत्पन्न हो गई है। इस कारण किसानों को चिंता सताने लगी है। कई स्थान पर किसान दोबारा खेतों में बुवाई करने पर मजबूर हो रहे हैं। इस कारण से उनके ऊपर अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है। कई किसान...

Vice null Time३० जुलाई २०१५ ००:२२:५८


अवैध खनन से छलनी हो रही पहाडि़यां, विभाग नहीं दे रहा ध्यान

0.80522686 ०२ जुलाई २०१५ ००:४२:५० bhaskar

केलवा| क्षेत्रकी पंचायतों में कई खानों से फेल्सपार, क्वार्ट्ज का अवैध खनन धड़ल्ले से चल रहा है। खान विभाग इसे रोक नहीं पा रहा है। लीज नहीं होने के बावजूद खनन से रॉयल्टी और ही कर के दायरे में रहा है। इससे सरकार को लाखों रुपए के राजस्व का नुकसान हो रहा है। पर्यावरण को भी नुकसान हो रहा है। केलवा, आत्मा, पड़ासली, मादड़ी, मेरडा, बामनटुकडा, जेतपुरा क्षेत्रों में 4 साल से धड़ल्ले से अवैध खनन हो रहा है। खान विभाग इस तरफ ध्यान नहीं दे रहा है। इससे पहाडिय़ां छलनी हो गई है। खान विभाग अवैध खननकर्ता पर कार्यवाही तो कर देता है लेकिन इसके बाद वापस ध्यान नहीं देने पर कुछ समय बाद फिर खनन शुरू कर देते हैं। खान विभाग के अधिकारियों के पहुंचने की सूचना मिलने पर खननकर्ता खनन रुकवाकर भाग जाते हैं। चरागाह पर तो 100 से 250 फीट तक के गड्ढे खोद दिए हैं। इन पंचायतों में कई खदानें निजी खातेदारी भूमि पर चल रही है वहीं कई जगहों पर सरकारी चरनोट, चरागाह पर खनन हो रहा है। प्रतिदिन बड़ी मात्रा में फेल्सपार बाहर भेजा जा रहा है। अवैध खनन पर कार्रवाई करेंगे ^अवैधखनन के बारे में जानकारी मिलने पर...

Vice null Time०२ जुलाई २०१५ ००:४२:५०


जून में औसत वर्षा 31.7 एमएम अधिकतम तापमान 400 रहता है

0.7971788 २० जून २०१५ २३:५४:४१ bhaskar

जोधपुर| शहरमें जून माह का अधिकतम तापमान औसत 40.1 रिकॉर्ड 48 डिग्री सेल्सियस रहता है। वहीं न्यूनतम तापमान औसत 28.2 न्यूनतम 15 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया जाता है। औसत वर्षा 31.7 एमएम होती है। इस बार 2 जून को सर्वाधिक अधिकतम तापमान 44.8 सबसे कम न्यूनतम तापमान 11 जून को 23 डिग्री रहा। जुलाई में अधिकतम तापमान औसत 36 रिकॉर्ड 43 डिग्री और न्यूनतम तापमान औसत 26.8 रिकॉर्ड 17 डिग्री रहता है। वहीं औसत वर्षा 101.7 एमएम होती है।

Vice null Time२० जून २०१५ २३:५४:४१


देश में हो रही मानसून की अच्छी बारिश, अबतक औसत से अधिक वर्षा

0.7971788 १५ जून २०१५ ०८:५८:१४ Jagran Hindi News - news:national

देश में इस बार मानसून की बारिश औसत से कम होने की भविष्यवाणी के बीच अबतक अच्छी बारिश हुई है। जानकारी के मुताबिक अबतक औसत से सात से आठ फीसद अधिक बारिश हुई है। पिछले तीन दिनों में बारिश में आई तेजी से फसलों की बुआई में मदद मिलेगी। वहीं

Vice सभी समाचार Time१५ जून २०१५ ०८:५८:१४


‘पर्यावरण संरक्षण पर ध्यान देना जरूरी’

0.7946591 १० जून २०१५ ००:१५:३६ bhaskar

{दिव्य ज्योति जागृति संस्थान ने बलदेव नगर राहों रोड में कराया कार्यक्रम सिटीरिपोर्टर|लुधियाना दिव्यज्योति जागृति संस्थान की ओर से पर्यावरण संरक्षण एवं जागरूकता के लिए चलाई जा रही मुहिम ‘माय अर्थ माई रिसपॉन्सिबिलिटी’ के तहत बलदेव नगर राहों रोड स्थित दोआबा सीनियर सेकेंडरी स्कूल में सेमिनार का आयोजन किया गया। स्वामी विकासानंद ने कहा कि आज हम प्रदूषण की भयंकर समस्या से जूझ रहे हैं। लुधियाना महानगर आज के दौर में प्रदूषण से बुरी तरह ग्रस्त है। प्रदूषण के कारण लोग हृदय रोग, सांस संबंधी बीमारियों एवं कैंसर से पीडि़त हैं। इसके अतिरिक्त ग्लोबल वार्मिंग भी दुनिया के सामने चुनौती बनकर खड़ी है। इसके लिए कार्बन डाई- ऑक्साइड गैस मुख्य रूप से जिम्मेदार है। स्वामी विकासानंद ने कहा कि यदि हमने पर्यावरण सरंक्षण की ओर ध्यान दिया तो आने वाले जीवन में पृथ्वी पर जीवन खतरे में पड़ जाएगा। उन्होंने कहा कि जब तक प्रकृति एवं मानव का पुन: समन्वय स्थापित नहीं होता, तब तक यह पर्यावरण संबंधी समस्या समाप्त नहीं हो सकती। इस अवसर पर प्रिं. नवतेज सिंह, प्रकाश कौर, बलविंदर...

Vice null Time१० जून २०१५ ००:१५:३६