सरसों की खेती से किसान हुए दूर, तेल मिलों में लगे ताले

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१३ फ़रवरी २०१८ १४:१४:३४ Jagran Hindi News - bihar:bhagalpur

तीन दशक पूर्व कोसी व सीमांचल में तेलहन फसल के रूप में सरसों की खेती बड़े पैमाने पर की जाती थी। पर पूर्ण लेख सरसों की खेती से किसान हुए दूर, तेल मिलों में लगे ताले

Vice सभी समाचार Time१३ फ़रवरी २०१८ १४:१४:३४


Ads

डिपुओं में मिलेगा सरसों का तेल!

1.6442555 २४ फ़रवरी २०१७ २३:५४:४२ Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news

खाद्य आपूर्ति विभाग की तैयारी, सरकार लेगी अंतिम फैसला शिमला — प्रदेश के राशन डिपुओं में आगे भी सरसों का तेल दिया जा सकता है। हालांकि मार्च माह से डिपुओं में रिफाइंड तेल दिया जाना था, लेकिन बताया जा रहा है कि खाद्य आपूर्ति विभाग

Vice null Time२४ फ़रवरी २०१७ २३:५४:४२


खेतों में लहलहाने लगी सरसों की फसल

1.550567 २२ दिसंबर २०१६ ०२:१७:५७ bhaskar

पिड़ावा|नगर आैरआसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में इस बार सरसों की फसल का रकबा अधिक है। इसका कारण यह फसल कम पानी में पैदा होती है। इससे लोगों ने इसकी ज्यादा बुवाई की है। मौसम के अनुकूल रहने से खेतों में इस बार खेतों में बंपर पैदावार होने की उम्मीद है। इस फसल में फूल आने लगे है। फूलों से खेत सुहाने लग रहे है।

Vice null Time२२ दिसंबर २०१६ ०२:१७:५७


खेतों में लहलहाने लगी सरसों की फसल

1.4435799 १९ दिसंबर २०१६ २२:३०:०७ bhaskar

संगरिया| क्षेत्रके खेतों में सरसों की फसलों पर पीले फूल खिल चुके हैं। खेतो में सरसों की फसल पूरे यौवन पर हैं। गांव नुकेरा के खेतों में सरसों की फसल ने पीली चुनरी बिछ चुकी हैं। किसान विजय खुडियाल ने बताया कि इस बार सरसों की फसल से अच्छी पैदावार होने के आसार है।

Vice null Time१९ दिसंबर २०१६ २२:३०:०७


बसंत पंचमी अभी दूर लेकिन खेतों में अभी से खिले सरसों के फूल

1.3795561 १८ दिसंबर २०१६ २३:२३:३१ bhaskar

यमुनानगर|बसंत पंचमीतो अभी दूर है लेकिन खेतों में खिले सरसों के फूल सबको अपनी और आकर्षित कर रहे यह फूल जिन्हें देख कर नन्हें बच्चे आनंद लेने के लिए बीच में अटकलिया कर रहे हैं। (फोटो अशोक गक्खड़)

Vice null Time१८ दिसंबर २०१६ २३:२३:३१


अगले माह मिलेगा सरसों का तेल

1.3567461 २५ नवंबर २०१६ २१:४२:११ Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news

टेंडर सरकार की मंजूरी के लिए भेजे, राशनकार्ड धारकों को राहत शिमला – प्रदेश में राशनकार्ड धारकों को अगले माह से सरसों का तेल मिलने लगेगा। खाद्य आपूर्ति निगम ने सरसों के तेल के लिए टेंडर करवा दिए हैं। टेंडर को सरकार की मंजूरी के

Vice null Time२५ नवंबर २०१६ २१:४२:११


किसानों ने खेतों में सरसों की बोवनी में तेजी की

1.3567461 १६ अक्‍तूबर २०१६ ००:१०:५१ bhaskar

Vice null Time१६ अक्‍तूबर २०१६ ००:१०:५१


सरसों तेल की घटती कीमतों पर लगेगा विराम

1.2762431 २९ मई २०१६ २३:२१:२० bhaskar

एक्सपेलर मिलर्स ने तेल के दाम घटाकर 9300 से 9400 रुपए क्विंटल कर दिए हैं। रामकृष्ण उपाध्याय|ग्वालियर देश की उत्पादक मंडियों में सरसों की सप्लाई की रफ्तार, धीरे-धीरे कम होने लगी है। हालांकि वैश्विक बाजार से खाद्य तेलों का निरंतर आयात हाे रहा है। यही कारण है कि सरसों सीड और तेल में गिरावट देखी जा रही है। जानकारों के अनुसार आने वाले दिनों में बारिश का सीजन शुरू होने के साथ ही तेल की मांग बढ़ेगी इसे देखते हुए कीमतों में और गिरावट के आसार कम हैं। ग्वालियर के थोक बाजार में सीजन की शुरुआत यानि फरवरी में जो लूज सरसों तेल 8550 से 8600 रुपए बिक रहा था वह अब घटकर 8250 से 8300 रुपए प्रति क्विंटल रह गया है। एक्सपेलर मिलर्स ने भी कच्ची घानी सरसों तेल के दाम घटाकर 9300 से 9400 रुपए प्रति क्विंटल कर दिए हैं। गत वर्ष समान अवधि में लूज सरसों तेल 8300 से 8350 रुपए बिक रहा था। सरसों में आई नरमी के कारण भी सरसों तेल में मंदे को बल मिला है। अंचल की मंडियों लूज सरसों की आवक करीब बीस हजार बोरी दैनिक हो रही है। लूज भाव 3900 से 4000 रुपए के स्तर पर कारोबार कर रहे हैं। 41 फीसदी तेल कंडीशन सरसों सीड 4350 रुपए बताई जा रही...

Vice null Time२९ मई २०१६ २३:२१:२०


किसान को खेत में चोट भी लगी तो मिलेगा अनुदान

1.2737457 २३ नवंबर २०१५ २१:१६:२१ Jagran Hindi News - haryana:rohtak

जागरण संवाददाता, रोहतक : राज्य सरकार द्वार मुख्यमंत्री किसान एवं खेतीहर मजदूर जीवन सुरक्षा योजना के

Vice सभी समाचार Time२३ नवंबर २०१५ २१:१६:२१


'सरसों तेल की ऊंची कीमतों से होगा किसानों को फायदा'

1.2631325 ०३ नवंबर २०१५ १८:४२:५५ Jagran Hindi News - news:business

प्याज और दाल के बाद सरसों के तेल की कुलांचे भरती कीमतें भले ही त्योहारी माहौल को फीका करने के लिए बेताब दिख रही हों, मगर संजीव बालियान की मानें तो इससे किसान फायदे में रहेंगे। बालियान केंद्र में कृषि राज्य मंत्री हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में

Vice सभी समाचार Time०३ नवंबर २०१५ १८:४२:५५


सरसों की मार पर मरहम लगाएगा विदेशी तेल

1.2631325 २४ मई २०१५ २१:३८:५६ Jagran Hindi News - delhi:new-delhi-city

नेमिष हेमंत, नई दिल्ली मौसम की मार से सरसों की फसल को नुकसान पहुंचने से तेल के दामों में बढ़ोतरी

Vice सभी समाचार Time२४ मई २०१५ २१:३८:५६