यूनानी चिकित्सा पद्धति के चौंकाने वाले फायदों से अभी भी वाकिफ नहीं हैं

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१३ फ़रवरी २०१८ १३:३६:५५ Jagran Hindi News - west-bengal:kolkata

राज्यपाल ने आयोजकों की सराहना करते हुए कहा कि यूनानी के फायदे बड़े पैमाने पर लोगों को बताने के लिए इस तरह के कार्यक्रमों से अच्छा कोई तरीका नहीं है। पर पूर्ण लेख यूनानी चिकित्सा पद्धति के चौंकाने वाले फायदों से अभी भी वाकिफ नहीं हैं

Vice सभी समाचार Time१३ फ़रवरी २०१८ १३:३६:५५


Ads

रेलवे अस्पतालों में आयुर्वेद यूनानी पद्धति से भी इलाज

2.1499739 ०७ जून २०१७ ००:४३:५७ bhaskar

रायपुर | अब रेलवे के अस्पतालों में एलोपैथी के साथ आयुर्वेद, यूनानी, होमियोपैथी व नेचुरोपैथी पद्धति से भी इलाज कराया जा सकेगा। रेलवे कर्मचारियों के लिए चल रहे इन अस्पतालों में अब तक सिर्फ एलोपैथी की ही सुविधा है। नई सुविधा रायपुर समेत देशभर के रेलवे अस्पतालों में शुरू की जाएगी। यही नहीं, यहां आयुष क्लीनिक भी जल्दी शुरू किया जा रहा है। इस सुविधा के साथ अब रेलवे के अधिकारी व कर्मचारी अपनी पसंद की पैथी से इलाज करा सकेंगे। रेल मंत्रालय ने अपने अस्पतालों में आयुष क्लीनिक खोलने के आदेश जारी किए हैं। इस निर्णय को लागू करने के लिए कमेटी का गठन किया जाएगा। कमेटी एक साल में केंद्र को रेलवे अस्पतालों में आयुष क्लीनिक के संबंध में विस्तार से रिपोर्ट देगी। रेलवे अस्पतालों में आयुष क्लीनिक खोलने के लिए जल्द ही आयुष डॉक्टरों की भर्ती की जाएगी।

Vice null Time०७ जून २०१७ ००:४३:५७


यूनानी चिकित्सा शिविर 13 से

2.1499739 ११ फ़रवरी २०१७ २३:१४:०३ bhaskar

बीकानेर | यूनानीचिकित्सा शिविर का दो दिवसीय आयोजन 13 से 14 फरवरी तक आयोजित किया जाएगा। शिविर प्रभारी डॉ.मो. गुफरान ने बताया कि शीतला गेट स्थित सामुदायिक भवन में आयोजित शिविर में गंठिया, बाय, जोड़ों का दर्द के साथ ही सभी प्रकार की बीमारियों की जांच कर रोगियों को निशुल्क औषधियां दी जाएगी। शिविर के दौरान विशेषज्ञों द्वारा हिजामा थैरेपी द्वारा इलाज किया जाएगा।

Vice null Time११ फ़रवरी २०१७ २३:१४:०३


यूनानी चिकित्सा पद्धति से भी छुड़ाई जाएगी शराब की लत

1.216513 २३ अप्रैल २०१६ २२:४४:२३ bhaskar

पटना सिटी|कई अस्पतालोंमें नशामुक्ति केंद्र खोले गए हैं, जहां मरीजों को भर्ती भी किया जा रहा है। क्षेत्रीय यूनानी चिकित्सा अनुसंधान संस्थान भी मरीजों का इलाज यूनानी पद्धति से करेगा। इसके लिए संस्थान में स्पेशल ओपीडी चलाया जाएगा। मेडिसिन भी दी जाएगी। संस्थान के सहायक निदेशक के. अंसारी ने कहा कि यूनानी चिकित्सा पद्धति में नशा छुड़ाने का उपाय है। शराब की लत छुड़ाने के लिए यहां मरीजों का इलाज होगा।

Vice null Time२३ अप्रैल २०१६ २२:४४:२३


निशुल्क शिविर में यूनानी चिकित्सा पद्धति से किया रोगियों का इलाज

1.216513 ०६ मार्च २०१६ २१:५४:४२ bhaskar

बांसवाड़ा|एमजी अस्पतालकी यूनानी चिकित्सा इकाई की ओर से दो दिवसीय निशुल्क शिविर का रविवार को समापन हुआ। शिविर प्रभारी डॉ. जहांआरा ने बताया कि भजले हनुमान मंदिर परिसर के पास लगाए शिविर में जोड़ाें का दर्द, गठिया, चर्मरोग, दमा, जीगर, श्वेत प्रदर आदि के 716 पीड़ित जांच और इलाज के लिए पहुंचे। शिविर में डॉ. इसहाक अहमद, कंपाउंडर कांतिलाल मईडा, हीरालाल वडेरी, चंदूलाल कोटेड, खातू चरपोटा ने सहयोग दिया।

Vice null Time०६ मार्च २०१६ २१:५४:४२


प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति ही सर्वोत्तम

1.216513 ०३ अक्‍तूबर २०१५ १४:२१:३१ Jagran Hindi News - odisha:bhubaneshwar

भुवनेश्वर : उत्कल विप्णन सहायता समिति की तरफ से गाधी जयंती के अवसर पर प्राकृतिक चिकित्सा प्रशिक्षण

Vice सभी समाचार Time०३ अक्‍तूबर २०१५ १४:२१:३१


'होमियोपैथी चिकित्सा पद्धति कारगर'

1.1262491 २१ अगस्त २०१५ १९:१८:२८ Jagran Hindi News - jharkhand:ranchi

रांची : होमियोपैथी चिकित्सा पद्धति ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी बेहतर पहचान बना ली है। यह चिकित्सा

Vice सभी समाचार Time२१ अगस्त २०१५ १९:१८:२८


एक छत के नीचे तीन पद्धति से होती चिकित्सा

1.1143874 १३ अगस्त २०१५ १७:५९:०६ Jagran Hindi News - bihar:gaya

गया।अभी भी एलोपैथ की चकाचौंध में सरकारी और गैर सरकारी अस्पताल संचालित है। इसके बावजूद जिला मुख्यालय

Vice सभी समाचार Time१३ अगस्त २०१५ १७:५९:०६


होम्योपैथी उत्कृष्ट चिकित्सा पद्धति है

1.1039973 ११ अप्रैल २०१५ २३:५१:०४ bhaskar

निजी चिकित्सक संगठन ने होम्योपैथी के जनक डॉ. हिनमेन की 260वीं जयंती विश्व होम्योपैथी दिवस के रूप में मनाई भास्कर संवाददाता| झाबुआ निजी चिकित्सक संगठन ने होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति के जनक डॉ. हिनमेन की 260वीं जयंती विश्व होम्योपैथी दिवस के रूप में मनाई। राजबाड़ा चौक में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि कलेक्टर बी. चंद्रशेखर थे। उन्होंने कहा होम्योपैथी वास्तव में एक उत्कृष्ट चिकित्सा पद्धति है। उसे उत्कृष्ट स्थान दिलाने के लिए चिकित्सकों को पूर्ण प्रयास करना चाहिए। यही डॉ. हिनमेन की सच्ची श्रद्धांजलि होगी। कलेक्टर ने कहा कोई भी क्वालिफायड चिकित्सक चाहे वह किसी भी चिकित्सा पद्धति का हो, उसे झोलाछाप नहीं कहा जा सकता। सभी चिकित्सक सम्माननीय होते हैं। सीएमएचओ डॉ. रजनी डावर ने संगठन द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों में निजी चिकित्सकों के सहयोग की अपेक्षा की। विशेष अतिथि के रूप में नपा अध्यक्ष धनसिंह बारिया, एसडीएम अंबाराम पाटीदार, जिला आयुष चिकित्सा अधिकारी डॉ. सीएल वर्मा व वरदान हॉस्पिटल के...

Vice null Time११ अप्रैल २०१५ २३:५१:०४


ईश्वरीय चिकित्सा पद्धति है प्राकृतिक चिकित्सा

1.1039973 ०७ फ़रवरी २०१५ २१:३६:२२ bhaskar

आरोग्य केन्द्र में सात दिवसीय शिविर संतनगर भास्कर|भोपाल प्राकृतिकचिकित्सा पद्धति ईश्वरीय पद्धति है, प्रकृति और नियमित दिनचर्या से स्वस्थ रहने और रोगों से निदान की सबसे सस्ती पद्धति है। यह बात विधानसभा के प्रमुख सचिव भगवानदेव इसरानी ने कही, वह प्राकृतिक आरोग्य चिकित्सा केन्द्र में सात दिवसीय रोग निवारण शिविर के शुभारंभ मौके पर बोल रहे थे। उद्घाटन समारोह में संत हिरदाराम जी के शिष्य सिद्ध भाऊ, अमरेली गुजरात से पधारे विशेषज्ञ बीवी चौहाण, भगवान देव इसरानी विधान सभा प्रमुख सचिव, डॉ. जी.डी. दयारामानी, उपाध्यक्ष आरोग्य केन्द्र, एवं कार्यक्रम आयोजक समिति के मम्तेश शर्मा, डॉ पी सरनयन, प्रिंसिपल, नेचरोपैथी कॉलेज, एवं डॉ शंकर पाटीदार, गायत्री शक्तिपीठ मंच पर उपस्थित रहे। आरोग्य केन्द्र के उपाध्यक्ष डॉ जीडी दयारामानी ने अतिथियों का स्वागत किया। आरोग्य केन्द्र के क्रियाकलापों की जानकारी प्रस्तुत की गई, जिसके बाद डॉ गुलाब राय टेवानी द्वारा आमंत्रित मुख्य अतिथि एवं सभी अतिथियों का परिचय प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम में मम्तेश शर्मा ने आभार व्यक्त...

Vice null Time०७ फ़रवरी २०१५ २१:३६:२२


होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति के साथ भेदभाव

1.1039973 २८ दिसंबर २०१४ २२:३३:१८ bhaskar

बिलासपुर | इंडियनहोम्योपैथिक आॅर्गनाइजेशन के राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक शहर के एक होटल में हुई। इसका उद्घाटन संगठन के राष्ट्रीय मानद अध्यक्ष हरियाणा के डॉ. एचजी शर्मा ने किया। अतिथियों ने संगठन को मजबूत करने पर बल दिया। साथ ही विभिन्न प्रदेशों में होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति के साथ शासन द्वारा किए जा रहे व्यवहार पर चिंता जताई गई। उन्होंने कहा कि एक तरफ सरकार आम जनता को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने की बात करती है। वहीं इस चिकित्सा पद्धति के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। कॉलेजों में अभी भी सुविधाओं का अभाव है, जिसकी वजह से वहां एडमिशन लेने वाले छात्रों को परेशानी हो रही है। बैठक

Vice null Time२८ दिसंबर २०१४ २२:३३:१८