प्रकृति ही कलाकार को अभिव्यक्ति देती है

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१४ जनवरी २०१८ ००:५४:५६ Divya Himachal: No. 1 in Himachal news – News – Hindi news – Himachal news – latest Himachal news

किताब के संदर्भ में लेखक *कुल पुस्तकें : 12 *कुल पुरस्कार : 14 *लेखन में योगदानः 60 वर्ष *कुल शोध : तीन हिमाचल का लेखक जगत अपने साहित्यिक परिवेश में जो जोड़ चुका है, उससे आगे निकलती जुस्तजू को समझने की कोशिश। समाज को बुनती इच्छाएं और टूटती सीमाओं के बंधन से मुक्त होती अभिव्यक्ति पर पूर्ण लेख प्रकृति ही कलाकार को अभिव्यक्ति देती है

Vice null Time१४ जनवरी २०१८ ००:५४:५६


Ads

साहित्यकारों, कलाकारों को मिले अभिव्यक्ति की आजादी- राम नाइक

2.310052 २५ नवंबर २०१७ १५:४१:३८ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

मेरठ में आईआईएमटी विश्वविद्यालय ने तीन दिन के लिटरेरी फेस्टिवल का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में राज्यपाल रामनाइक ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की।

Vice null Time२५ नवंबर २०१७ १५:४१:३८


भोपाल की स्वराज वीथि में प्रेम और प्रकृति पर आधारित 22 कलाकारों की एग्जीबिशन

2.0070095 २६ मई २०१७ १०:२६:३९ bhaskar

भोपाल। स्पर्श पेंटिंग एग्जीबिशन शुक्रवार से स्वराज वीथिका में शुरू हुई। इसमें भोपाल सहित हैदराबाद, मुंबई, लखनऊ सहित अन्य शहरों के 22 पेंटिंग आर्टिस्ट ने अपने चित्र प्रदर्शित किए हैं। मदर्स डे को थीम बनाते हुए सभी ने अपनी पेंटिंग्स प्रदर्शित की हैं, जिसमें मनुष्य के आपसी प्रेेम के अलावा जीव-जंतुओं और प्रकृति के प्रेम करने के तरीके को दिखाया गया है। भोपाल की आर्टिस्ट रूपिंदर कौर ने स्पर्श थीम का एग्जीबिशन के लिए चुना। यह पेंटिंग एग्जीबिशन 28 मई तक दर्शक देख सकेंगे और समय सुबह 11 बजे से लेकर रात 8 बजे तक रहेगा। खुशनुमा पल पेंटिंग में... हैदराबाद से आई श्रीनीजू कहती हैं, मुझे जिंदगी के पॉजिटिव विचार पेंटिंग्स में उतारने में खुशी मिलती है। ऐसे पलों को अपनी पेंटिंग में उतारती हूं जो कि कहीं देखें होते हैं। अपनी पेंटिंग में उन्होंने समंदर के किनारे घूमते-फिरते एक बच्चे का चित्र बनाया है जो कि वॉटर कलर मीडियम में हैं। बच्चे के लिए भोजन का इंतजाम.. मुंबई से आई मंजुला दुबे ने बताया कि एग्जीबिशन की थीम के मुताबिक मातृत्व को दिखाती हुई...

Vice null Time२६ मई २०१७ १०:२६:३९


अभिव्यक्ति पर खतरे गहराते हैं तब कलाकार नए प्रयोगों के साथ सामने आते हैं : भारती

1.8784962 १० नवंबर २०१६ ०३:१५:४२ bhaskar

उदयपुर | नाट्यकर्मीऔर संस्कृतिविद् भानु भारती ने कहा है कि कला के माध्यम से ही रचनाकार इतिहास को जिंदा रखता है। अभिव्यक्ति पर जब-जब खतरे गहराने लगते हैं। कलाकार नए प्रयोगों के साथ सामने आते हैं। हाल में प्राइम टाइम में बिना कुछ कहे काले पर्दे ने जो अभिव्यक्त किया वह कोई दूसरा नहीं कर सका। भारती सुखाड़िया विश्वविद्यालय में दृश्य कला विभाग की राष्ट्रीय संगोष्ठी के समापन सत्र में बतौर बीज वक्ता संबोधित कर रहे थे। पत्रकार त्रिभुवन ने कहा कि जब शब्द अपनी बात नहीं कर पाते तब दूसरी कलाएं मदद को सामने आती हैं। चित्रकला हो या नाट्य विधा पत्रकारिता की अभिन्न शक्तियां हैं। लेकिन आज पत्रकारिता से कई कलाएं विमुख हो रही हैं। वे एक-दूसरे की तरफ पीठ किए खड़ी हैं। जबकि इन्हें एक-दूसरे के हाथों को मजबूती से थामना चाहिए। इससे अभिव्यक्ति कमजोर हुई है। अध्यक्षता करते हुए प्रो. मदन सिंह राठौड़ ने कहा कि कला शिक्षण को बाहरी दबावों से मुक्त रखना चाहिए। बाल मन सहज ही अपने भावों और रूपों को अभिव्यक्त करती है। सत्यम शिवम सुंदरम का उल्लेख करते हुए उन्होंने शिव तत्व की...

Vice null Time१० नवंबर २०१६ ०३:१५:४२


प्रकृति की रचना, मनुष्य को देती प्रेरणा: साध्वी

1.8262388 २७ मई २०१६ २२:४३:४९ bhaskar

पटियाला | दिव्यज्योति जाग्रति संस्थान ने गांव मरदाहेडी में सत्संग कराया। साध्वी राजविघा भारती ने बताया कि प्रकृति की रचना मनुष्य को कोई कोई प्रेरणा देती है। कमल का फूल है वो पैदा भी कीचड़ में होता है और उसी गंदगी में से अपना भोजन प्राप्त करता है। उसका वास गंदगी में होते हुए भी कमल का फूल अपना रिश्ता सदैव सूर्य से जोडकर रखता है। तभी तो वह अपनी सुंदरता और सुगंधि के कारण सभी को मन को लुभाता है। कमल का फूल भी हमें संदेश देता है कि जैसे करोडों मीलों दूर रहकर भी अपना नाता सूर्य से बनाए रखता है जो उसकी सुंदरता का मूल है। इसी प्रकार मानव को भी अपना नाता अपने मूल से बनाए रखना चाहिए। मानव के जीवन का आधार ईश्वर है जो उसके ह्दय में वास करता है। साध्वी ने कहा कि हम भी संसार की माया रूपी कीचड में रहते हुए अपना नाता प्रभु रूपी सूर्य से बनाकर रखें। यह तभी संभव है जब हमारे जीवन में समय के पूर्ण सद्गुरू का पदार्पण होगा।

Vice null Time२७ मई २०१६ २२:४३:४९


अभिव्यक्ति की आजादी देश को बर्बाद करने की छूट नहीं देती: जेटली

1.7235498 २० मार्च २०१६ १३:०९:०९ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दूसरे दिन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी का मतलब यह नहीं होता कि आप देश को बर्बाद करने की बात कहें।

Vice सभी समाचार Time२० मार्च २०१६ १३:०९:०९


खेत से निकले आलू में प्रकृति की कलाकारी

1.7202938 २३ नवंबर २०१५ २२:२८:४३ bhaskar

दमोह। जिले के ग्राम आनू में किसान खेमचंद असाटी के खेत में खुदाई के दौरान विचित्र किस्म का आलू निकला। यह आलू देखने में चेहरे जैसा नजर आता है। आलू का वजन करीब एक किलो बताया गया है। विनय असाटी ने बताया कि उसके दादा के खेत में सोमवार की सुबह आलू खुदाई का कार्य चल रहा था। इसी बीच एक बड़ा आलू निकला। आलू में दो कान, आंख, मुंह स्पष्ट रूप से नजर आते हैं। लोगों को जानकारी लगते ही गांव के लोग दिन भर आलू को कौतूहल से देखते रहे।

Vice null Time२३ नवंबर २०१५ २२:२८:४३


जिन्हें दूसरों पर दया नहीं आती, उन्हें प्रकृति दया का पात्र बना देती है

1.7202938 ११ सितंबर २०१५ ००:२१:०६ bhaskar

क्रांतिकारीराष्ट्रसंत जैनमुनि तरुण सागर महाराज ने बीफ और मीट के रोक पर देश में मचे बवाल पर कहा कि शिवसेना अपनी राजनीति करे। जैनियों को धर्मनीति सिखाएं। जैन धर्म की अहिंसा पर कटाक्ष करें। जैन धर्म पर्व-पर्यूषण के समय मीट की बिक्री पर रोक की मांग करना क्या गुनाह है। अगर जैन समुदाय ने मांग की और सरकार ने उसे सुना तो किसी को चिल्लाने की क्या जरूरत है। यह तो सुप्रीमकोर्ट का वर्षों पुरान आदेश रहा है। मुगलकाल में भी जैनियों के पर्यूषण के समय किसी भी किस्म की कुर्बानी करने का शाही फरमान हुआ करता था। मारने वाले से बचाने वाला हमेशा बड़ा होता है। सब जीवों पर दया कराे। जीओ और जीने दो। यह दर्शन तो देश की परंपरा है। याद रखना जिन्हें दूसरों पर दया नहीं आती। उन्हें प्रकृति दया का पात्र बना देती है। उद्धव ठाकरे का यह कहना है कि मुस्लमानों के लिए तो पाकिस्तान है। जैनों के लिए क्या है। तरुण महाराज ने कहा कि जैनों के लिए पूरा हिन्दुस्तान है। वे तो इस देश के मूल रहवासी है। उन्हें कहीं जाने की जरूरत ही क्या है।

Vice null Time११ सितंबर २०१५ ००:२१:०६


प्रकृति ईश्वर की इच्छा की अभिव्यक्ति: जाधव

1.4362915 ०५ जून २०१५ २३:३७:३७ bhaskar

प्रकृति ईश्वर की इच्छा की अभिव्यक्ति: जाधव इंदौर| न्यू देवास रोड स्थित बरली ग्रामीण महिला विकास संस्थान में विश्व पर्यावरण दिवस पर शुक्रवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम हुए। मुख्य अतिथि लायंस क्लब ऑफ इंदौर अहिल्या की अध्यक्ष सोना कस्तूरी थीं। अतिथियों का स्वागत संस्थान में बनी कलाकृतियों से किया। कार्यक्रम में संस्थान की निदेशिका ताहेरा जाधव ने पर्यावरण की महत्ता पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि प्रकृति ईश्वर की इच्छा की अभिव्यक्ति है। ईश्वर ने हमें इस धरोहर को सहेजने के लिए भेजा है। इस मौके पर पार्षद और निगम में योजना, सूचना और प्रौद्योगिकी प्रभारी सुधीर देड़गे ने कहा कि पर्यावरण के प्रति हमें जिम्मेदार होना चाहिए। जिले के 59 गांवों के 100 प्रशिक्षणार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किए।

Vice null Time०५ जून २०१५ २३:३७:३७


प्रकृति के लिए

1.4335783 ०४ मार्च २०१५ ०१:४९:४३ Jagran Hindi News - editorial:nazariya

पहाड़ी राज्य हिमाचल में प्रकृति ने खूब इनायत बख्शी है। प्रकृति की कृतियां यहां की आर्थिकी की मजबूत कड़

Vice सभी समाचार Time०४ मार्च २०१५ ०१:४९:४३


यूं ही देती रहूंगी मुंह तोड़ जवाब: बॉलीवुड कलाकार

1.3044562 १६ दिसंबर २०१४ १७:५२:१७ Live Hindustan Rss feed

चौबीस घंटे ही बीते थे उस घटना को जो मुंबई में घटी थी। किसी ने उसे दुस्साहस कहा तो किसी ने सही वक्त पर सही सबक सिखाने के लिए उठाया गया कदम बताया।

Vice सभी समाचार Time१६ दिसंबर २०१४ १७:५२:१७