पथ निर्माण विभाग में बहाल होंगे 200 इंजीनियर, मिलेंगे प्रति माह 55,000 रुपये

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१३ जनवरी २०१८ १७:५९:१७ Jagran Hindi News - bihar:patna-city

पथ निर्माण विभाग में 200 इंजीनियर बहाल किये जायेंगे। इन्‍हें 55 हजार रूपया प्रति माह मानदेय मिलेगा। नियुक्ति में राज्य सरकार की आरक्षण नीति और आदर्श रोस्टर का पालन किया जाएगा। पर पूर्ण लेख पथ निर्माण विभाग में बहाल होंगे 200 इंजीनियर, मिलेंगे प्रति माह 55,000 रुपये

Vice सभी समाचार Time१३ जनवरी २०१८ १७:५९:१७


Ads

किसानों को प्रति क्विंटल 200 से 300 रुपये हो रहा नुकसान

1.3313241 ०४ अप्रैल २०१७ ०१:१३:४३ bhaskar

सरकारकी और से एक अप्रैल से गेहूं खरीद का सीजन शुरू किया गया है। जबकि पुरानी अनाज मंडी में व्यापारी खरीद कर करे है। पुरानी मंडी में किसानों को अपनी सरसों जौ की फसल सस्ते दामों पर बेचनी पड़ रही है। किसान राजपाल, हवासिंह ने बताया कि जौ 14सौ रुपए खरीदे गए जबकि सरसों की खरीद 34सौ रुपए जा रही है। सरकारी रेट 37सौ रुपए क्विंटल है। यानी 200से 300 रुपए प्रति क्विंटल घाटे पर फसल बेचनी पड़ रही है। राजबीर, मोहन का कहना है कि अभी तक मंडी में खरीद शुरू नहीं की गई, जबकि कटाई के साथ कढ़ाई का काम चल रहा है। किसान अपनी फसल को सीधा मंडी में नहीं बेच पा रहा है। मार्केट कमेटी सचिव उमेश दांगी का कहना है कि उनकी तरफ से सभी तैयारी पूरी है। अभी किसान फसल लेकर नई अनाज मंडी में नहीं पहुंचे।

Vice null Time०४ अप्रैल २०१७ ०१:१३:४३


9 नवनियुक्त इंजीनियरों को नोटिस, पथ निर्माण विभाग में योगदान करने का निर्देश

1.1094368 ०३ अप्रैल २०१७ १७:०१:४१ bhaskar

रांची। कनीय अभियंता संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा - 2014 के आधार पर पथ निर्माण विभाग में कनीय अभियंता के पद पर नियुक्ति हेतु अनुशंसित दो उम्मीदवार अभी तक अपने प्रमाण पत्रों की जांच के लिए उपस्थित नहीं हुए हैं। इनमें राहुल (पिता - दुधेश्वर पंडित और नीतेश कुमार वर्णवाल (पिता - अशोक कुमार वर्णवाल) शामिल हैं। - दोनों उम्मीदवारों को अंतिम मौका देते हुए 10 अप्रैल तक पथ निर्माण विभाग (प्रोजेक्ट भवन सचिवालय) रांची में उपस्थित होने को कहा गया है। उपस्थित नहीं होने पर उनकी उम्मीदवारी स्वतः रद्द समझी जाएगी। - इसके अलावा सात इंजीनियरों ने अभी तक विभाग में योगदान नहीं किया है। इन्हें भी 10 अप्रैल तक पथ निर्माण विभाग में योगदान करने को कहा गया है।

Vice null Time०३ अप्रैल २०१७ १७:०१:४१


पथ निर्माण विभाग में 121 जूनियर इंजीनियरों की भर्ती

0.98313046 ०३ जून २०१६ १०:५७:५२ bhaskar

पटना | डिप्टीसीएम तेजस्वी यादव ने कहा कि पथ निर्माण विभाग में 121 सहायक अभियंताओं की नियुक्ति के लिए बीपीएससी को प्रस्ताव भेज दिया गया है। माह के अंत तक विभाग में वर्षों से लम्बित पड़े प्रोन्नति के सभी मामले निपटा लिए जाएंगे।

Vice null Time०३ जून २०१६ १०:५७:५२


पथ निर्माण विभाग में 143 इंजीनियरों का तबादला

0.98313046 ०७ जनवरी २०१६ २३:१८:३५ bhaskar

पथनिर्माण विभाग में गुरुवार को बड़े पैमाने पर इंजीनियरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग हुई। विभाग की सचिव राजबाला वर्मा के निर्देश के बाद ट्रांसफर-पोस्टिंग की अधिसूचना जारी कर दी गई है। इसमें काफी संख्या में अधीक्षण, कार्यपालक और सहायक अभियंता शामिल है। भवन निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता रास बिहारी सिंह की सेवा वापस लेते हुए उन्हें अधीक्षण अभियंता अग्रिम योजना अंचल सह मुख्य अभियंता का प्रभार दिया गया है। अधीक्षण अभियंता पलामू विनय कुमार लाल को स्थानांतरित करते हुए अधीक्षण अभियंता एनएच अंचल रांची सह प्रभारी मुख्य अभियंता, एनएच के पद पर पदस्थापित किया गया है। इसके अलावा दर्जनों अभियंता की सेवा ग्रामीण विकास विभाग और भवन निर्माण विभाग सहित पर्यटन, स्वास्थ्य और पर्यटन विभाग को सौंपी गई है। एक सप्ताह में पदस्थापित स्थान पर अपना योगदान देने का निर्देश दिया गया है। नाम कहां गए रासबिहारी सिंह, एसई प्रभारी मुख्य अभियंता विनय कुमार लाल, एसई प्रभारी मुख्य अभियंता, एनएच ओमप्रकाश विमल, एसई रांची प्रमंडल उपेंद्र प्र..सिंह, एसई चाईबासा सुरेश प्रसाद...

Vice null Time०७ जनवरी २०१६ २३:१८:३५


560 रुपये प्रति माह वेतन मिला करता था रायबहादुर सोहन लाल को

0.8192753 २९ नवंबर २०१५ ०१:२९:२५ bhaskar

इस तालिका में समाहित ब्यौरे से यह पता चलता है कि शिव लाल की बीकानेर राज्य सेवा में प्रविष्टि, 21 फरवरी सन् 1885 ई. को हुई थी। नौ अगस्त, सन् 1887 ई. को शिवलाल को कोलायत में तहसीलदार ग्रेड द्वितीय बना कर भेज दिया गया। इस पद के दायित्व का निर्वहन करते हुए शिव लाल को 120 रुपये मासिक वेतन तथा 15 रुपये प्रति माह का हाॅर्स एलाउंस प्राप्त हो रहा था। इस प्रकार, वेतन तथा भत्तों की मद में उन्हें राजकोष से 135 रुपये प्रति माह की प्राप्ति हो रही थी। सीता राम नामक एक अन्य अधिकारी से संबंधित इंद्राज को देखने पर यह ज्ञात होता है कि इन्होंने 11 अगस्त, सन् 1884 ई. को बीकानेर स्टेट सर्विस को ज्वॉइन किया था। 31 दिसंबर, सन् 1894 ई. को इन्हें सूरतगढ़ में तहसीलदार ग्रेड तृतीय के पद पर नियुक्त कर दिया गया था। इस पद पर नियुक्ति के दौरान इन्हें 100 रुपया मासिक वेतन तथा 15 रुपया प्राप्ति माह का हॉर्स एलाउंस प्राप्त हो रहा था। अन्य शब्दों में वेतन भत्तों के पेटे उन्हें राज्य से 115 रुपये मासिक की प्राप्ति हो रही थी। राय साहब सोहन लाल के विषय में हमें इस तालिका से यह विदित होता है कि, इन्होंने , अप्रैल सन् 1884 को...

Vice null Time२९ नवंबर २०१५ ०१:२९:२५


पथ निर्माण के दो इंजीनियरों की सेवा नगर विकास विभाग को मिली

0.8192753 ०५ नवंबर २०१५ ०७:०५:५८ bhaskar

रांची। पथ निर्माण विभाग के दो इंजीनियरों की सेवा नगर विकास विभाग को दे दी गई है। भवन प्रमंडल हजारीबाग में पदस्थापित कार्यपालक अभियंता अरुण कुमार सिंह और भवन प्रमंडल कोडरमा में पदस्थापित कार्यपालक अभियंता रविन्द्र सिंह की सेवा नगर विकास विभाग को दी गई है। वहीं चतरा पथ प्रमंडल में पदस्थापित कार्यपालक अभियंता सुरेन्द्र प्रसाद को वहां से हटा कर विभाग में योगदान देने का निर्देश दिया गया है। पथ निर्माण विभाग ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है।

Vice null Time०५ नवंबर २०१५ ०७:०५:५८


पथ निर्माण विभाग के आठ इंजीनियर लापता, प्रमोशन देने के लिए हो रही खोज

0.737725 १४ जुलाई २०१५ १०:४८:३७ bhaskar

रांची। पथ निर्माण विभाग के आठ इंजीनियर लापता हो गए हैं। लंबे समय से विभाग में पदस्थापित इन आठ इंजीनियरों का अता-पता नहीं है। यह हम नहीं कह रहे हैं, पथ निर्माण विभाग कह रहा है। अब इन इंजीनियरों को प्रमोशन देने के लिए सरकार खोज रही है। इसके लिए एक सप्ताह का समय निर्धारित किया गया है। यानि एक सप्ताह के अंदर आठ इंजीनियर सशरीर हाजिर नहीं होते हैं तो उन्हें लापता घोषित करते हुए प्रमोशन सूची से उनका नाम हटा दिया जाएगा। दरअसल, विभाग में जूनियर इंजीनियर के पद पर पदस्थापित राम सूरत यादव, अखिलेश्वर सिंह, मनोहर हेम्ब्रम, राजबली राम, शंभू सिंह, सुरेन्द्र प्रसाद सिंह, राजेन्द्र प्रसाद सिंह और योगेन्द्र मंडल का सेवा पुस्तिका विभाग में उपलब्ध नहीं है। सेवा पुस्तिका उपलब्ध कराने के लिए विभाग की ओर से कई बार सार्वजनिक सूचना निकाली गई, लेकिन उन्होंने जमा नहीं किया। इस कारण विभाग ने ऐसे इंजीनियरों को अंतिम मौका दिया है। निर्धारित समय तक सेवा पुस्तिका उपलब्ध नहीं होने पर उन्हें लापता घोषित कर दिया जाएगा।

Vice null Time१४ जुलाई २०१५ १०:४८:३७


पथ निर्माण के इंजीनियरों को 20 तक देना होगा सीआर

0.71541274 ११ जुलाई २०१५ ०८:००:२० bhaskar

रांची। पथ निर्माण विभाग के इंजीनियरों को 20 जुलाई तक सीआर देना होगा। पथ निर्माण विभाग की सचिव राजबाला वर्मा ने रांची के नियंत्रणाधीन अभियंताओं की वार्षिक चारित्री ससमय क्षेत्रीय पदाधिकारियों के स्तर से उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि समय पर सीआर आने के बाद संबंधित इंजीनियरों को सेवाकाल का देय लाभ दिया जाएगा। उन्होंने कहा है कि अभियंत्रण सेवा के सभी नियंत्री पदाधिकारी अपने अधीनस्थ अवर अभियंत्रण संवर्ग एवं अभियंत्रण सेवा संवर्ग के अभियंताओं की वार्षिक गोपनीय चारित्री का फॉर्म भरकर विभाग को उपलब्ध कराएं। इसमें अभियंताओं की जन्म तिथि एवं वरीयता क्रमांक होना जरूरी है।

Vice null Time११ जुलाई २०१५ ०८:००:२०


पर्यावरण समिति से नहीं मिल रही है NOC, पथ निर्माण विभाग की योजनाएंं हुई धीमी

0.6644514 १७ फ़रवरी २०१५ १२:४५:४७ bhaskar

रांची। पथ निर्माण विभाग की कई योजनाए धीमी पड़ गई है। इसका कारण बताया गया है कि स्टोर क्रशर और बालू के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं मिलना। इसके साथ ही पट्टा से भी संबंधित मामले पर्यावरण समिति के पास लंबित होने के कारण बालू और पत्थर की उपलब्धता में कठिनाई आ रही है। इसकी वजह से योजनाओं की प्रगति बाधित हो रही है। इस संबंध में मुख्य सचिव ने निर्देश जारी कर कहा है कि राज्य पर्यावरण समिति सभी मामले में शीघ्र निर्णय ले तथा अन्य राज्यों की इससे संबंधित प्रक्रिया की समीक्षा कर प्रक्रिया को सरलीकरण किया जाए। इस तरह के आवेदनों को ऑन लाइन किया जाए। इसके साथ ही वन एवं पर्यावरण विभाग समय बद्ध तरीके से 90 दिनों के अंदर इसका समाधान करे।

Vice null Time१७ फ़रवरी २०१५ १२:४५:४७


706 मोटिवेटरों की होगी बहाली, प्रति माह पांच हजार रुपए मिलेगा मानदेय

0.62598616 ११ जनवरी २०१५ ००:३५:५५ bhaskar

पटना. जल्द ही नौ जिलों में पंचायत स्तर पर 706 उद्दीपिकाओं (मोटिवेटर) की बहाली होगी। ये आंगनबाड़ी सेविकाओं को सपोर्ट करेंगी। उन्हें प्रशिक्षित करने के साथ स्कूल पूर्व नन्हे बच्चों के पोषण पर भी काम करेंगी। इन्हें प्रतिमाह पांच हजार रुपए मानदेय दिया जाएगा। समाज कल्याण विभाग के सचिव अरविंद चौधरी ने कहा कि इंटरमीडिएट पास महिलाएं आवेदन कर सकेंगी। सामान्य वर्ग के लिए अधिकतम उम्र 35 व एससी-एसटी के लिए 40 वर्ष है। बहाली के लिए लिखित परीक्षा ली जाएगी। इन जिलों में होगी बहाली : जमुई, शिवहर, मधेपुरा, अररिया, मधुबनी, किशनगंज, सुपौल, बांका व पूर्णिया। ये कार्य करेंगे बच्चों के टीकाकरण अभियान में मदद पंचायत में बच्चों के पोषण व कुपोषण की स्थिति की रिपोर्ट देना अभिभावक को पोषण संबंधी जानकारी देना आंगनबाड़ी सेविका को कार्य संचालन में तकनीकी सपोर्ट देना समय-समय पर आंगनबाड़ी सेविका को प्रशिक्षण देना बच्चों के मानसिक विकास के लिए काम करना आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को भेजने के लिए अभिभावकों को प्रेरित करना।

Vice null Time११ जनवरी २०१५ ००:३५:५५