खराब प्रशासन और लापरवाही की वजह से बाढ़

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१३ सितंबर २०१७ १७:५५:०८ Hastakshep

ग्लोबल वार्मिंग की वजह से बाढ़ की समस्या गहराई है. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस ने अपने एक अध्ययन में यह बताया है कि चेन्नई, हैदराबाद और बेंगलुरु में... यदि उपरोक्त लिंक काम न कर रहा हो तो पूरा आलेख पढ़ने के लिए लॉगिन करें। http://www.hastakshep.com पर पूर्ण लेख खराब प्रशासन और लापरवाही की वजह से बाढ़

Vice सभी समाचार Time१३ सितंबर २०१७ १७:५५:०८


Ads

लापरवाह प्रशासन

2.288648 २७ अप्रैल २०१७ २३:१७:५३ Jagran Hindi News - editorial:nazariya

जहां इतने लोगों की आवाजाही का साधन नाव है तो फिर वहां लोहे की स्थाई जेटी क्यों नहीं बनाई गई?

Vice सभी समाचार Time२७ अप्रैल २०१७ २३:१७:५३


खराब बांध प्रबंधन है बिहार बाढ़ की असली वजह

1.5689309 २४ अगस्त २०१६ ०१:२४:३० Navbharat Times

बिहार में इस साल सामान्य से कम बारिश हुई है इसके बावजूद वह बुरी तरह बाढ़ की मार झेल रहा है। लंबे समय से बिहार की बाढ़ के लिए नेपाल से पानी छोड़ने को बड़ी वजह माना जाता रहा है। इस बार हालांकि हालात अलग हैं। बिहार में बाढ़ के लिए इस बार बांध का कुप्रबंधन और करीबी राज्यों मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल के बैराज को जिम्मेदार माना जा रहा है।

Vice सभी समाचार Time२४ अगस्त २०१६ ०१:२४:३०


बीएसएनएल की लापरवाही से सिस्टम हो रहे खराब

1.4157957 ०७ अप्रैल २०१६ ०१:१३:४० bhaskar

मंदसौर | भारत संचार निगम लिमिटेड की लापरवाही के चलते शहर और अंचल की सेवा पूरी तरह से ठप हो चुकी है। निगम के अधिकारी-कर्मचारी केवल झूठे एसएमएस से उपभोक्ताओं को दिलासा देने का काम करते हैं। यह बात विधायक यशपालसिंह सिसाैदिया ने भारत संचार निगम के मुख्य महाप्रबंधक से की शिकायत में कही। उन्होंने बताया कॉल ड्रॉप, फोन न लगना आम समस्या है। लाइनें व्यस्त होना, शिकायत पर कर्मचारी का न आना और तकनीकी समस्या है। विभाग के पास मशीनरी नहीं है, ऐसे में बीएसएनएल उपभोक्ताओं के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है।

Vice null Time०७ अप्रैल २०१६ ०१:१३:४०


पीलिया पर प्रशासन अब भी लापरवाह

1.4157957 १८ जनवरी २०१६ १५:१७:०९ Jagran Hindi News - himachal-pradesh:shimla

ताराचंद शर्मा, पुजारली (शिमला) राजधानी में पीलिया ने तीन लोगों को मौत की नींद सुला दिया है। यही न

Vice सभी समाचार Time१८ जनवरी २०१६ १५:१७:०९


खराब वाहन भी हादसों की वजह

1.3720177 १५ दिसंबर २०१५ १३:३२:१६ Jagran Hindi News - haryana:gurgaon

जागरण संवाददाता, गुड़गांव : सड़कों पर दौड़ते अनफिट वाहन भी हादसों की बड़ी वजह हैं। कोहरे में ऐसे वाहन

Vice सभी समाचार Time१५ दिसंबर २०१५ १३:३२:१६


बदहाल हुआ पार्क, प्रशासन लापरवाह

1.3126951 १० सितंबर २०१५ २०:१२:३१ Jagran Hindi News - haryana:ambala

संवाद सहयोगी, नारायणगढ़ : शहर के एकमात्र पार्क के हालात दिनों-दिन बदतर होते जा रहे है। अपनी सुंदर

Vice सभी समाचार Time१० सितंबर २०१५ २०:१२:३१


बाढ़ से बचाव के लिए प्रशासन अलर्ट

1.2976805 १३ जुलाई २०१५ २३:४९:०७ bhaskar

प्रदेशमें हो रही भारी बरसात के कारण सोमवार को घग्घर नदी में पानी गया है। घग्घर में पानी आते ही प्रशासन ने अपने पुख्ता किए गए प्रबंधों का जायजा लेना शुरू कर दिया है। वहीं सभी अधिकारियों को अलर्ट रहने के भी आदेश डीसी ने जारी कर दिए हैं। संभावित बाढ़ को ध्यान में रखते हुए डीसी निखिल गजराज के निर्देशानुसार सोमवार को डीआरओ अमीचंद सैनी ने बाढ़ के समय प्रयोग की जाने वाली कश्ती अन्य प्रबंधों का निरीक्षण किया। सैनी ने किश्ती में सवार होकर जलघर में यात्रा की और किश्ती में प्रयोग होने वाली मशीन का गहनता से जांच किया। इस अवसर पर उन्होंने सभी मशीनों को चलवा कर देखा और बाढ़ प्रशिक्षक को निर्देश दिये कि यदि किसी प्रकार की कोई कमी हो तो वे उन्हें अवगत करवाएं। उन्होंने यह भी कहा कि जिला अन्य जिलों से गोताखोर तैराकों की पहचान कर उनके मोबाइल नंबर लिए जाए। उनका भी प्रशिक्षण लिया जाए। इन गांवों में रहता है बाढ़ का खतरा जिलेके बाढ़ संभावित गांव मुसाहिबवाला, नेजाडेलाकला, फरवाई, पनिहारी, किराड़कोट, रंगा, मत्तड़, नागोकी, मल्लेवाला, बुढ़ाभाणा, खैरेकां, बनसुधार, चामल,...

Vice null Time१३ जुलाई २०१५ २३:४९:०७


प्रशासन की लापरवाही से हुआ गोलीकांड : माकपा

1.2976805 २७ जून २०१५ १२:५२:१४ Jagran Hindi News - himachal-pradesh:mandi

जागरण संवाददाता, मंडी : मा‌र्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) के जिलाअध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने कहा क

Vice सभी समाचार Time२७ जून २०१५ १२:५२:१४


बाढ़ से निबटने के बंदोबस्त में लापरवाही

1.2839079 २९ मई २०१५ २२:३९:२६ bhaskar

शहरमें मानसून पूर्व सफाई अभियान अब तक शुरू नहीं हो सका है। ऐसे में शहर के प्रमुख स्थानों पर पानी भर जाने बाढ़ के हालात से इस बार भी राहत नहीं मिल पाएगी। नगर परिषद की ओर से अभी तक शहर के ड्रैनेज सिस्टम को ठीक करने की कोई योजना नहीं बनी है। नालियों और बड़े नालों को डायवर्ट करने से बारिश का पानी मकानों और दुकानों में घुस जाता है, जिससे लोगों को नुकसान झेलना पड़ता है। आवागमन प्रभावित हो जाता है। शुक्रवार को दैनिक भास्कर ने उन स्थानों का जायजा लिया, जहां शहर के बीच तेज लगातार बारिश होने पर बाढ़ जैसे हालात बन जाते हैं। इसको लेकर प्रशासन संजीदा है और नगर परिषद के पास कोई कार्ययोजना है। अफसरों से इस बारे में पूछा गया तो गोलमोल जवाब मिला। अब बारां नगर परिषद के एईएन सुधाकर व्यास की ही सुनिए। मानसून सिर पर है और वह कहते हैं कि नालों और नालियों की सफाई के लिए कार्य योजना बनाई जाएगी। अफसरों के इस रवैये से जनता खासकर व्यापारी वर्ग में भारी आक्रोश व्याप्त है। इसलिएफिर भरेगा बारिश का पानी शहरके प्रताप चौक, धर्मादा चौराहा, अस्पताल रोड, स्टेशन रोड, मांगरोल रोड लंका कॉलोनी...

Vice null Time२९ मई २०१५ २२:३९:२६


जब प्रशासन ही लापरवाह फिर कौन करे परवाह

1.2839079 २७ मई २०१५ १५:४३:५७ Jagran Hindi News - haryana:gurgaon

जागरण संवाददाता, गुड़गांव : प्रशासनिक लापरवाही से इफको चौक के नजदीक हरियाली बर्बाद होनी शुरू हो गई है

Vice सभी समाचार Time२७ मई २०१५ १५:४३:५७