नशा सप्लाई करना पड़ा महंगा, जिंदगी के 20 साल बीतेंगे जेल में

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१३ सितंबर २०१७ १७:४९:१८ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

एनडीपीएस कोर्ट ने आज एक तस्कर को 20 साल की सजा सुनाई है। साथ ही, एक लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया है। पर पूर्ण लेख नशा सप्लाई करना पड़ा महंगा, जिंदगी के 20 साल बीतेंगे जेल में

Vice null Time१३ सितंबर २०१७ १७:४९:१८


Ads

20 साल की सजा होने के बाद जेल में कैसी बीती राम रहीम की पहली रात, जानिए

1.4709913 २९ अगस्त २०१७ १३:३७:३१ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

साध्वी रेप केस में सीबीआई की विशेष अदालत ने डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को 20 साल की सजा सुनाई। जानिए उसके बाद बाबा की पहली रात जेल में कैसे बीती।

Vice null Time२९ अगस्त २०१७ १३:३७:३१


चीनी मांझे का इस्तेमाल पड़ेगा महंगा, होगी पांच साल की जेल

1.2376673 ०७ जून २०१७ ११:५८:१२ Jagran Hindi News - uttar-pradesh:lucknow-city

आदेश दिए गए हैं कि पतंग उड़ाने के लिए सिंथेटिक, सीसा लेपित या नायलॉन पतंग डोरी का निर्माण, स्टोरेज और बिक्री कतई न होने पाए।

Vice सभी समाचार Time०७ जून २०१७ ११:५८:१२


प्‍यार का इजहार पड़ा महंगा, हुई एक साल की जेल

1.101613 ०४ मई २०१७ ०७:४०:०१ Jagran Hindi News - news:national

सार्वजनिक तौर पर 16 वर्षीय किशोरी का हाथ पकड़ कर प्‍यार का इजहार करने के जुर्म में युवक को एक साल की जेल की सजा दी गयी है।

Vice सभी समाचार Time०४ मई २०१७ ०७:४०:०१


नशे में वाहन चलाना पड़ा महंगा

1.0689088 ११ जनवरी २०१७ ००:२४:१० bhaskar

मलारना डूंगर| एककार चालक को नशे में वाहन चलाना महंगा पड़ गया। एएसआई गिर्राज शर्मा ने शेषा के ढोले के पास तेज गति से लहराते हुए कार को रुकवाई तो चालक तेज गति से ले जाने की फिराक में असंतुलित हो गया और कार नाली में जा घुसी। पुलिस ने चालक का चिकत्सक से परीक्षण करवाया तो वह नशे में हालत में पाया गया। पुलिस ने नशे में वाहन चलाने के मामले में कार चालक को गिरफ्तार कर लिया। कार चालक के पास वाहन के वांछित कागजात भी नहीं थे।

Vice null Time११ जनवरी २०१७ ००:२४:१०


हुड़दंग किया तो हवालात में बिताना पड़ेगा नया साल

1.0313894 ३० दिसंबर २०१६ २२:१४:१६ bhaskar

नए साल के जश्न के दौरान हुड़दंग करना महंगा पड़ सकता है। हुड़दंगियों पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी। जश्न में किसी तरह की अनहोनी काे रोकने पुलिस विशेष तैयारी कर रही है। किसी भी तरह की गड़बड़ी करते पाए जाने पर सीधे जेल जाना पड़ सकता है। शहर में पुराने साल की विदाई और नए साल के आगमन पर जश्न मनाने तैयारियां जोर-शोर से जारी हैं। शहर में देर रात तक डीजे की धुन पर झूमने के लिए जगह-जगह डीजे की बुकिंग कर ली गई है। 31 दिसंबर की शाम 7 बजे से शहर में नए साल के जश्न की शुरुआत हो जाएगी। जश्न रात 12 बजे नए साल के आगमन से देर रात तक जारी रहेगा। वहीं पुलिस ने भी किसी भी तरह की अप्रिय घटना से निपटने विशेष योजना बना ली है। पुलिस की नजर खासतौर पर हुड़दंगियों पर रहेगी, जो शराब के नशे में विवाद कर सकते हैं। 31 दिसंबर की रात शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले और तेज रफ्तार वालों पर भी पुलिस की नजर रहेगी। जिले के हर थाना क्षेत्र में पुलिस के जवान दोपहिया और चारपहिया की चेकिंग करेंगे। इस दौरान संदिग्ध व्यक्तियों की भी पहचान की जाएगी। उनके खिलाफ भी प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी। खासतौर पर रात 12 बजे...

Vice null Time३० दिसंबर २०१६ २२:१४:१६


20 साल जेल में बिताने के बाद हुए बाइज्जत बरी

1.0260171 २७ नवंबर २०१६ ०१:५५:४२ Navbharat Times

20 साल जेल में रहने के बाद कोर्ट फैसला सुनाए कि आरोपी निर्दोष हैं, तो? निचली अदालत ने 1996 में 3 आरोपियों को गैंगरेप का दोषी मान 5 साल 3 महीने की सजा दी। इसके खिलाफ आरोपियों ने हाई कोर्ट में अपील की। उनकी अपील पर अब सुनवाई हुई। कोर्ट ने इन्हें निर्दोष मान बरी कर दिया। एक आरोपी की जेल में ही मौत भी हो गई।

Vice सभी समाचार Time२७ नवंबर २०१६ ०१:५५:४२


चालक को महंगा पड़ा नशा करना

1.0256827 १५ दिसंबर २०१५ १४:५७:५० Jagran Hindi News - himachal-pradesh:bilaspur-hp

घुमारवीं : स्थानीय पुलिस ने नशा कर वाहन चलाने वाले चालक के खिलाफ कार्रवाई की है। संजय कुमार निवासी ग

Vice सभी समाचार Time१५ दिसंबर २०१५ १४:५७:५०


जेल में नशा लाने को जिंदगी दांव पर लगा रहे कैदी

0.98066086 ०९ अक्‍तूबर २०१५ ०१:१७:५५ bhaskar

जूतों,जुराबों, पगड़ी, कमीज, तेेल की बोतल, खाने-पीने की चीजों के अलावा, बाकी तरीकों से जेल में नशा लाते पकड़े गए तो अब कैदी अपनी जिंदगी खतरे में डालकर जेल में नशा लेकर रहे हैं। पुलिस जेल में नशा रोकने की पूरी कोशिश कर रही है, कैदी उससे भी चार कदम आगे हैं। अब कैदियों ने शरीर के अंदरूनी हिस्से (गुदा) में नशा छिपाकर जेल में लाना शुरू कर दिया है। छह महीने में ऐसे तीन केस सेंट्रल जेल में पकड़े हैं, जिसमें कैदी गुदा में बीड़ी, जर्दा और बाकी नशा ले लाने की कोशिश कर रहे थे। डॉक्टरों के अनुसार ऐसा करने से जिंदगी को खतरा है, क्योंकि नशा अंदरूनी हिस्से में फैलकर मौत का कारण बन सकता है। बुधवार को सेंट्रल जेल स्टाफ ने नरिंदर को ऐसा करते हुए पकड़ा तो उसे राजिंदरा अस्पताल भेजा गया। वहां डॉक्टरों ने उसकी गुदा से बीड़ी के दो बंडल जब्त किए। आरोपी जज रमनदीप सिंह उर्फ नीतू की कोर्ट में चोरी के मामले में पेशी भुगतने गया था। लौटने पर तलाशी में उससे नशा पकड़ा गया। जेल सुपरिंटेंडेंट भूपिंदर सिंह विर्क ने कहा कि आरोपी के खिलाफ सेशन जज को लिखा है और उनके निर्देश पर अगली कार्रवाई होगी।...

Vice null Time०९ अक्‍तूबर २०१५ ०१:१७:५५


कैदियों को नशा सप्लाई करने में सहायक सुपरिंटेंडेंट जेल िगरफ्तार

0.96391135 ०३ अक्‍तूबर २०१५ ००:४४:४५ bhaskar

केंद्रीयमॉडर्न जेल में बंद कैदियों से बैंक खाते के जरिए पैसे वसूलकर नशा सप्लाई करने के मामले में सहायक जेल सुपरिटेंडेंट कर्मजीत सिंह भुल्लर को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी सुपरिंटेंडेंट इन दिनों जिला जेल मानसा में तैनात था और उसे जेल विभाग ने कुछ समय पहले ही निलंबित कर दिया था। एक दिन का रिमांड लिया है। पुलिस ने 24 जुलाई 2015 को जेल में बंद नशा तस्कर गांव दीना (मोगा) के प्रगट सिंह उसके पिता गुरदेव सिंह पर नशे का केस दर्ज किया गया था। जांच में पता चला कि प्रगट जेल में बैठकर ही एक हाई प्रोफाइल ड्रग रैकेट चला रहा था। वह जेल कर्मियों की मिलीभगत से यहां पर नजरबंद कैदियों को नशा मुहैया करवाता था और नशा खरीदने वाले कैदियों से अपने पिता गुरदेव सिंह के भगता भाई का (बठिंडा) स्थित स्टेट बैंक आफ पटियाला के एक खाते में पैसे मंगवाता था। पुलिस ने पाया अगस्त 2012 से 17 जून 2013 तक इस खाते में राज्य के विभिन्न शहरों से करीब साढ़े पांच लाख रुपए जमा करवाए गए। पड़ताल के दौरान सहायक जेल सुपरिटेंडेंट कर्मजीत सिंह भुल्लर का नाम भी आया और उस पर जेल में नशा पहुंचाने में मदद करने के आरोप...

Vice null Time०३ अक्‍तूबर २०१५ ००:४४:४५


‘बड़ी महंगी पड़ी हमें ये आवारगी कि जिंदगी के लिए हमने खो दी जिंदगी....

0.87944317 १३ सितंबर २०१५ २३:३१:४९ bhaskar

सांझासाहित्य मंच की मासिक काव्य गोष्ठी आज स्थानीय निर्मल धाम मॉडल टाउन करनाल में कवि दुलीचंद रमन पाढ़ा की अध्यक्षता में हुई। काव्य गोष्ठी में मंच संचालन युवा कवि अनिल सिंघानिया ने किया। काव्य गोष्ठी में राजकीय उच्च विद्यालय प्रेम नगर करनाल के स्काउट मास्टर डा. विक्रम चौहान के नेतृत्व में दस सदस्यीय स्काउट टीम भी आई और निर्मल धाम में वृद्धों से मिलन कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। स्काउट के बच्चों की इस मानवीय सेवा को देखकर सभी केवल प्रसन्न हुए बल्कि सबने स्काउट के बच्चों की मुक्त कंठ से सराहना की। मंच के संयोजक कृष्ण कुमार निर्माण ने बताया कि मंच लगातार सामाजिक गतिविधियों में सक्रिय रहेगा। अध्यक्षता कर रहे दुलीचंद रमन ने सबकी कविताओं पर सारगर्भित टिप्पणी भी की मंच की ओर से बच्चों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अमरजीत, अमन, अंकित, गुरमीत, पारस, रमन, शिवांश, दीपक विशाल आदि उपस्थित थे। ‘कभीद्रव्य तो कभी कठोर है दिल.... अनिलसिंघानिया ने कहा ‘बड़ी महंगी पड़ी हमें ये आवारगी कि जिंदगी के लिए खो दी जिंदगी’। भूपेंद्र चावला बोले ‘कभी द्रव्य तो कभी...

Vice null Time१३ सितंबर २०१५ २३:३१:४९