एनयूएलएम का पैसा क्यों नहीं खर्च कर रहे राज्य: सुप्रीम कोर्ट

Press Report

समाचार स्रोतों की सूची लगातार अद्यतन

Share on Facebook Share on Twitter Share on Google+

Ads

१३ सितंबर २०१७ १७:४४:३२ Jagran Hindi News - news:national

जस्टिस मदन बी लोकुर व जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच ने कहा कि राज्यों का रवैया यही रहता है तो फिर से केंद्र उन्हें ग्रांट जारी क्यों करता है। पर पूर्ण लेख एनयूएलएम का पैसा क्यों नहीं खर्च कर रहे राज्य: सुप्रीम कोर्ट

Vice सभी समाचार Time१३ सितंबर २०१७ १७:४४:३२


Ads

सुप्रीम कोर्ट ने राज्यों से पूछा- गवाहों की सुरक्षा के लिए अब तक क्या किया?

1.5929737 ०९ सितंबर २०१७ ०४:१७:१० Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्यों से पूछा है कि गवाहों की सुरक्षा के लिए अब तक क्या कदम उठाए गए हैं। ।

Vice सभी समाचार Time०९ सितंबर २०१७ ०४:१७:१०


राज्य बताएं, क्या जजों की नियुक्ति नीट की तरह संभव है : सुप्रीम कोर्ट

1.5929737 ०९ मई २०१७ १८:४३:४३ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

अदालतों में जजों की कमी और लंबित मामलों के अंबार से चिंतित सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सभी राज्यों से पूछा है कि क्या अखिल भारतीय परीक्षा के जरिये जजों की भर्ती की जा सकती है या नहीं

Vice सभी समाचार Time०९ मई २०१७ १८:४३:४३


सुप्रीम कोर्ट ने पूछा, 'क्या भाजपा आपको PIL डालने के लिए पैसा देती है?'

1.49729 १६ दिसंबर २०१६ ०९:४२:५८ Jagran Hindi News - news:national

कोर्ट ने भाजपा प्रवक्ता को फटकार लगाते हुए पूछा, ‘क्या बीजेपी ने आपको यही काम दिया हुआ है?

Vice सभी समाचार Time१६ दिसंबर २०१६ ०९:४२:५८


नोटबंदी: सुप्रीम कोर्ट का सरकार से सवाल, लोगों को क्यों नहीं मिल रहा उनका पैसा

1.4456264 ०९ दिसंबर २०१६ ११:२५:०५ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से यह भी पूछा कि हालात सामान्य होने में कितना समय लगेगा

Vice null Time०९ दिसंबर २०१६ ११:२५:०५


सुप्रीम कोर्ट ने दी बीसीसीआई को मैचों के लिए पैसा खर्च करने की इजाजत

1.4456264 ०८ दिसंबर २०१६ १३:०८:१९ खेल – Newsview – Ajmer News

सुप्रीम कोर्ट के बुधवार को एक फैसला सुनाकर बीसीसीआई को बहुत बड़ी राहत प्रदान की है. अदालत ने आदेश दिए हैं कि बीसीसीआई दो टेस्ट मैचों के लिये 1.33 करोड रूपए खर्च करने के लिये स्वतंत्र होगी. कोर्ट ने बीसीसीआई को इंग्लैंड के साथ जनवरी-फरवरी में होने वाले छह मैचों तीन एक दिवसीय और तीन

Vice null Time०८ दिसंबर २०१६ १३:०८:१९


सुप्रीम कोर्ट ने कहा, गांवों में पैसा पहुंचाने के लिए क्या कर रही है सरकार

1.4456264 ०२ दिसंबर २०१६ १०:३९:३९ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

कोर्ट ने केंद्र से पूछा था कि नोटबंदी को लेकर सरकार की क्या व्यवस्था है

Vice सभी समाचार Time०२ दिसंबर २०१६ १०:३९:३९


सुप्रीम कोर्ट की सभी राज्यों को कड़ी फटकार

1.399369 २० अप्रैल २०१६ ०२:२९:०३ Daily Hindi News | The First Online Hindi Newspaper from Sagar

नई दिल्‍ली (डेली हिंदी न्‍यूज़)। देश भर में सरकारी जमीन पर धार्मिक इमारतें बनाने से जुड़े मामले की सुनवाई के दौरान आज सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्यों को कड़ी फटकार लगाई। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने इसे लेकर एफिडेविट नहीं दायर किया। कोर्ट ने 8 मार्च को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को

Vice null Time२० अप्रैल २०१६ ०२:२९:०३


दूसरे राज्य की कोर्ट में सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट में लगाई याचिका

1.399369 १३ मई २०१५ ००:४३:०५ bhaskar

हिसार। बरवाला के सतलोक आश्रम प्रकरण संबंधित रामपाल व उसके अनुयायियों के केस दूसरे राज्यों की अदालत में ट्रांसफर करने के लिए रामपाल के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। मामले में रामपाल के वकील एपी सिंह ने बताया कि मंगलवार को याचिका दायर की गई है। इसमें अपील की गई है कि सतलोक आश्रम व रामपाल प्रकरण की अगली सुनवाई हरियाणा एंड पंजाब हाईकोर्ट के बजाय किसी दूसरे राज्यों की कोर्ट में करवाई जाए। कोर्ट में दायर याचिका में उन्होंने हरियाणा एंड पंजाब हाईकोर्ट के सेक्शन 406 सीआरपीसी का हवाला दिया है। याचिका में वकील ने कहा कि मामले के 821 अनुयायियों और रामपाल के केस की आगामी कार्रवाई दूसरे राज्यों के कोर्ट में करवाई जाए।

Vice null Time१३ मई २०१५ ००:४३:०५


दूसरे राज्य की कोर्ट में सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट में लगाई याचिका

1.399369 १३ मई २०१५ ००:०२:१८ bhaskar

हिसार | बरवालाके सतलोक आश्रम प्रकरण संबंधित रामपाल उसके अनुयायियों के केस दूसरे राज्यों की अदालत में ट्रांसफर करने के लिए रामपाल के वकील ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है। मामले में रामपाल के वकील एपी सिंह ने बताया कि मंगलवार को याचिका दायर की गई है। इसमें अपील की गई है कि सतलोक आश्रम रामपाल प्रकरण की अगली सुनवाई हरियाणा एंड पंजाब हाईकोर्ट के बजाय किसी दूसरे राज्यों की कोर्ट में करवाई जाए। कोर्ट में दायर याचिका में उन्होंने हरियाणा एंड पंजाब हाईकोर्ट के सेक्शन 406 सीआरपीसी का हवाला दिया है। याचिका में वकील ने कहा कि मामले के 821 अनुयायियों और रामपाल के केस की आगामी कार्रवाई दूसरे राज्यों के कोर्ट में करवाई जाए।

Vice null Time१३ मई २०१५ ००:०२:१८


ज्यादा पैसे आने पर समझ नहीं आता कहां खर्च करें: सुप्रीम कोर्ट

1.1669971 २० फ़रवरी २०१५ ०४:२३:५७ Latest And Breaking Hindi News Headlines, News In Hindi | अमर उजाला हिंदी न्यूज़ | - Amar Ujala

घूसखोरी पर कड़ी टिप्पणी करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा ‌कि ज्यादा पैसा आने पर समझ नहीं आता इसे कहां खर्च करें।

Vice सभी समाचार Time२० फ़रवरी २०१५ ०४:२३:५७